आखिर क्यों वसीम जाफर इशांत शर्मा का टेस्ट करियर खत्म करने के पीछे लगे हुए हैं - क्रिकट्रैकर हिंदी

आखिर क्यों वसीम जाफर इशांत शर्मा का टेस्ट करियर खत्म करने के पीछे लगे हुए हैं

इशांत ने अपना आखिरी टेस्ट मैच कानपूर में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था।

Ishant Sharma and Wasim Jaffer (Photo Source: Getty Images)
Ishant Sharma and Wasim Jaffer (Photo Source: Getty Images)

लंबा कद, तेज रफ्तार, पिच से गेंद को अंदर और बाहर ही ओर ले जाने की क्षमता और साथ ही में 105 टेस्ट मैचों का अनुभव  इंडिया के तेज गेंदबाज इशांत शर्मा के अंदर वो सबकुछ है जो एक प्रमुख सीम गेंदबाज में होना चाहिए। लेकिन इसके बावजूद इस तेज गेंदबाज को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर अब तक खेलने का मौका नहीं मिला है।

सीरीज में फिलहाल 2 टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं और तीसरा 11 जनवरी से केपटाउन में शुरू होने वाला है। दूसरे टेस्ट मैच में मोहम्मद सिराज चोटिल हो गए थे लेकिन उसके बाद भी इशांत शर्मा का नाम दूर-दूर तक नहीं सुनाई दे रहा है। ऐसे में ये सवाल उठना शुरू हो गया है कि क्या इस तेज गेंदबाज का करियर खत्म हो चुका है? क्या इशांत ने अपना आखिरी टेस्ट मैच खेल लिया है?

मुझे लगता है कि इशांत अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला चुके हैं- वसीम जाफर

ताजा हालातों और टीम इंडिया के पिछले कुछ प्लेइंग इलेवन को देखकर लगता है कि वो इशांत से आगे निकल चुकी है। भारतीय टीम के पास जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के तौर पर दो बेहतरीन तेज गेंदबाज हैं और अब मोहम्मद सिराज की भी एंट्री हो चुकी है, जिन्होंने बहुत कम समय में अपना नाम बनाया है।

इस बीच पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर का भी यही मानना है। इनसाइड क्रिकेट शो पर बात करते हुए जाफर ने कहा कि, “मुझे लगता है इशांत शर्मा ने अपना आखिरी टेस्ट मैच खेललिया है। अगर बुमराह, शमी और सिराज फिट हैं तो वो पहले तीन तेज गेंदबाज होंगे। इसके बाद आपके पास शार्दुल ठाकुर हैं और उमेश यादव भी हैं। शार्दुल ऑलराउंडर हैं और इसलिए उन्हें पहले ही चुना जाएगा। इशांत के लिए अब मुश्किल है।”

जाफर की माने तो, टीम चयन को देखते हुए, अनुभवी तेज गेंदबाज अंतरराष्ट्रीय टीम से संन्यास लेने के बारे में सोच सकते हैं। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पिछले दो टेस्ट मैचों में इस तेज गेंदबाज को कोई विकेट नहीं मिला था। वह बल्लेबाजों को स्वतंत्र रूप से रन बनाने से रोकने में अच्छा है। लेकिन कप्तान विराट को रन रोकने वाला गेंदबाज से ज्यादा विकेट लेने वाला गेंदबाज पसंद है।