टी-20 वर्ल्ड कप के मैचों में फैंस को लेकर आई बड़ी खबर - क्रिकट्रैकर हिंदी

टी-20 वर्ल्ड कप के मैचों में फैंस को लेकर आई बड़ी खबर

इस मेगा इवेंट की शुरुआत 17 अक्टूबर से होगी।

ICC World Twenty20 India 2016: England v Sri Lanka
ICC World Twenty20 India 2016: England v Sri Lanka

अक्टूबर के महीने में क्रिकेट फैंस के लिए सबसे बड़ा इवेंट आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप होने वाला है, जिसके शुरू होने का इंतजार काफी बेसब्री से किया जा रहा है। यूएई और ओमान में खेले जाने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्ड का पहला मैच 17 अक्टूबर को खेला जाएगा। जिसमें कोरोना महामारी संबंधी आदेशों में रियायत मिलने के बाद अब इस बड़े इवेंट में यूएई के मैदान में 70 फीसदी दर्शकों को स्टेडियम में प्रवेश की अनुमति दी गई है।

हालांकि ओमान में खेले जाने वाले मैचों को लेकर अभी थोड़ा सा स्थिति साफ नहीं जिसकी सबसे बड़ी वजह वहां से गुजरने वाला एक तूफान है और इसके बाद ही स्थिति का आकलन किए जाने के बाद फैसला लिया जाएगा। वहीं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की तरफ से जारी बयान में यह बताया गया है कि मस्कट स्थित अल अमीरात स्टेडियम में 3000 फैंस के बैठने की व्यवस्था की गई है।

ओमान में आईसीसी टी-20 वर्ल्ड के क्वालीफायर मुकाबले 17 से 21 अक्टूबर के बीच खेले जायेंगे। जिसमें दोनों ग्रुप में पहले 2 स्थान पर रहने वाली टीमों को सुपर-12 में जगह मिलेगी जिसके मुकाबले यूएई में खेले जायेंगे। बता दें कि यह टी-20 वर्ल्ड कप पहले भारत में खेला जाना था, लेकिन कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते इसे यूएई में स्थानांतरित किए जाने का फैसला किया गया।

महामारी के बाद टी-20 वर्ल्ड कप सबसे बड़ा क्रिकेट का टूर्नामेंट है

इसमें किसी बात का कोई शक नहीं कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) लगातार इस मेगा इवेंट का आयोजन सफल तरीके से कराने के लिए आईसीसी के साथ लगातार काम कर रहा है। वहीं इस मेगा इवेंट को लेकर आईसीसी ने अपने बयान में कहा कि, महामारी के बाद यह क्रिकेट का ग्लोबल स्तर पर सबसे बड़ा टूर्नामेंट है जिसमें फैंस को भी स्टेडियम में आने की अनुमति मिलेगी।

आईसीसी ने अपने बयान में यह भी बताया कि, अबू धाबी के स्टेडियम में सोशल डिस्टेंसिंग पॉड्स भी बनाए गए हैं जिसमें हर एक पॉड्स में चार दर्शकों को बैठने की अनुमति मिलेगी। वहीं मैदान में दर्शकों की संख्या को लेकर बीसीसीआई ने स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर गहन विचार विमर्श किया। जिसके बाद ही स्टेडियम में 70 फीसदी दर्शकों की संख्या का फैसला लिया गया है।