अभी तक टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ मिली जीत का जश्न मना रहे हैं पाकिस्तानी खिलाड़ी - क्रिकट्रैकर हिंदी

अभी तक टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ मिली जीत का जश्न मना रहे हैं पाकिस्तानी खिलाड़ी

बाबर आजम की कप्तानी में पाकिस्तान ने पहली बार वर्ल्ड कप के इतिहास में भारत को हराने में सफलता प्राप्त की थी।

Imad Wasim
Imad Wasim of Pakistan. (Photo by Barrington Coombs-IDI/IDI via Getty Images)

पाकिस्तान के स्पिनर इमाद वसीम ने कहा है कि टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारत के खिलाफ टीम ने जो उपलब्धि हासिल किया वह शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। बाबर आजम के नेतृत्व वाले पाकिस्तान ने टी-20 वर्ल्ड कप में भारत को 10 विकेट से हराकर एक नया इतिहास रचा था। उस हार से भारत को वर्ल्ड कप की शुरुआत में ही बड़ा झटका लगा था।

इस मैच में पाकिस्तान के गेंदबाजों ने भारत को खुलकर खेलने का मौका नहीं दिया और टीम इंडिया 20 ओवरों में मात्र 151 रन ही बना पाई थी। लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की टीम बिना कोई विकेट गंवाए हुए मैच को आसानी से जीत लिया। इस वर्ल्ड कप में भारत को शुरुआत में पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से दो बड़े हार का सामना करना पड़ा था जिस वजह से टीम पहले राउंड से ही बाहर हो गई थी।

भारत-पाक मैच को लेकर इमाद वसीम ने क्या कहा ?

भारत-पाकिस्तान के उस मैच को लेकर पाक क्रिकेटर इमाद वसीम ने कहा है कि, “यह वास्तव में अच्छा था और भारत को हराना हमेशा पाकिस्तान क्रिकेट में शामिल सभी लोगों के लिए कुछ विशेष पल प्रदान करता है। बेशक, मैंने इस अवसर और मैच का आनंद लिया, और परिणाम बिल्कुल सही था। हम पर दबाव था, लेकिन टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ खेलने का यह जीवन में एक बार का मौका था और मैं उस अवसर के लिए वास्तव में आभारी हूं।

इमाद ने आगे कहा कि, “मुझे लगा कि उस दिन उस दिन हमने जो कुछ भी किया वह सब पूरी तरह से सही साबित हुआ। भारत एक बहुत अच्छी टीम है, लेकिन हमने उस दिन उन्हें पछाड़ दिया। जिस तरह से हमने खेला वह बहुत ही शानदार था और मैं कहूंगा कि यह बिल्कुल सही प्रदर्शन था। वास्तव में, मैं यह भी कहूंगा कि उस दिन हमने जो हासिल किया था, उसे भविष्य में दोहराना काफी मुश्किल होगा।”

वसीम ने माना कि दोनों देशों के बीच ‘राजनीतिक तनाव’ उनके बीच क्रिकेट की कमी का कारण है। लेकिन उन्हें भविष्य में क्रिकेट संबंधों के फिर से शुरू होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि, “मुझे लगता है कि दो विश्व स्तरीय टीमें होने के नाते भारत और पाकिस्तान को नियमित रूप से एक-दूसरे के खिलाफ खेलना चाहिए।”