राशिद पर अधिक आक्रामक होने के पीछे की वजह शिखर धवन ने बतायीं - क्रिकट्रैकर हिंदी

राशिद पर अधिक आक्रामक होने के पीछे की वजह शिखर धवन ने बतायीं

Shikhar Dhawan
Shikhar Dhawan plays a shot. (Photo Source: Twitter)

भारतीय टीम के ओपनिंग बल्लेबाज़ शिखर धवन ने अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच के पहले दिन ही सिर्फ 87 गेंदों में शतक लगाकर सभी को अपनी आक्रामक पारी से बेहद प्रभावित किया. अफ़गान टीम में गेंदबाजी के 2 मुख्य हथियार राशिद खान और मुजीब जादरान भी उनके खिलाफ बेरंग से दिखाई दिए.

शिखर धवन ने अपनी पारी में सबसे अधिक हमला 19 साल के राशिद खान पर बोला जिस वजह से क्रिकेट जगत के काफी सारे लोगों को अचम्भा भी हुआ. इसी पर बात करते हुए धवन ने कहा कि उन्हें राशिद को खेलने का पिछले 2 साल से अनुभव है सनराइजर्स हैदराबाद के नेट्स पर.

धवन ने दिन का खेल खत्म होने के बाद बयान देते हुए कहा कि “सबसे अच्छी जो बात थी वह यह कि मैं पिछले 2 सालों से राशिद को नेट्स में खेल रहा था क्योंकि हम दोनों एक ही आईपीएल टीम से खेलते है तो मुझे उसकी गेंदबाजी खेलने की आदत सी है.”

जहाँ एक तरफ धवन अपने आक्रामक रुख अपनाएं हुए थे वहीँ दूसरी तरफ उनके साथी खिलाड़ी मुरली विजय में डिफेंसिव बल्लेबाजी की और उन्होंने भी 143 गेंदों में अपना शतक पूरा किया. जब विजय के डिफेंसिव खेलने के बारे में धवन से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हर खिलाड़ी का अपना बल्लेबाजी का तरीका होता है जिससे वह सफल होता है.

हर एक का अपना तरीका होता है

धवन ने अपनी बात को आगे बढाते हुए कहा कि “देखिये हर किसी का अपना एक तरीका होता है खेलने का. एक टीम में अलग – अलग तरह के करेक्टर होते है मेरा खेलने का तरीका विजय से बिल्कुल ही अलग है और ऐसा हर खिलाड़ी के साथ होता है. जहाँ कुछ खिलाड़ी बाहर निकलकर खेलते है तो वहीँ कुछ ऐसा करना ठीक नहीं समझते है. हर एक अपना गेम होता है जिसके अनुसार वह खेलता है. मेरी ताकत बाहर निकलकर खेलने की है.”

इसके अलावा आखिरी सेशन में अफगानिस्तान टीम की शानदार वापसी पर भी धवन ने उनकी तारीफ़ करते हुए कहा कि “उन्होंने आखिरी सेशन में काफी अच्छी वापसी की है. वे अभी अपना पहला मैच खेल रहे है और मुझे इस बात का पूरा विश्वास है कि वह काफी कुछ सीखेंगे यहाँ से. राशिद भी एक काफी अच्छे गेंदबाज है मुझे उनके खिलाफ खेलने में काफी मजा आता है.”