in

बुमराह से पहले इन दो भारतीय तेज़ गेंदबाजों को भी मिल चुका है साउथ अफ्रीका में पदार्पण का मौका

भारत की ओर से दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट कैप पहनने वाले तीसरे तेज़ गेंदबाज बने.

Jasprit Bumrah
Jasprit Bumrah of India. (Photo Source: Twitter)

अपनी खतरनाक यार्कर व तेज़ गेंदबाजी से T20 और वन-डे फॉर्मेट में बल्लेबाजों की गिल्लियाँ बिखेरने वालें भारतीय तेज़ गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के हाथों में अब लाल कूकाबूरा गेंद थमा दी गयी है. बुमराह को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में उन्हें टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने का मौका मिला. इस तरह भारत की ओर से दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट कैप पहनने वाले तीसरे तेज़ गेंदबाज बने.

अभी तक अफ्रीका में गेंदबाजों का पदार्पण नहीं रहा शानदार

जसप्रीत बुमराह को 31 वनडे और 32 टी20 मैच में अपनी लहराती हुई गेंदों का जादू दिखानें के बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टपहले टेस्ट मैच में पदार्पण करने का मौका मिला. इससे पहले पदक्षिण अफ्रीका की धरती पर भारत के डोडा गणेश ने केपटाउन में साल 1997 में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी।

जिसमे गणेश ने 33.5 ओवर में 131 रन देकर एक विकेट लिया था. इस दौरान उन्होंने 9 मेडन ओवर फेंके थे। दूसरे तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट थे। जिन्होंने वर्ष 2010 में अफ्रीका दौरे पर सेंचुरियन में अपना डेब्यू किया था. उस मैच में उन्होंने 26 ओवर में 101 रन दिए थे और कोई भी विकेट नहीं ले पाए थे. इसको देखतें हुए देखना दिलचस्प होगा की बुमराह इस प्रथा को गलत साबित कर पातें है या नहीं.

बुम्राह के लिए अफ्रीका किसी चुनौती से कम नहीं

टीम इंडिया के पास इस वक़्त तेज़ गेंदबाजों की कोई कमी नहीं है. जिसमे भुवनेश्वर कुमार, इशांत शर्मा मोहम्मद शमी, और उमेश यादव जैसे धाकड़ तेज़ गेंदबाज शामिल है जिनके पास गति के साथ-साथ स्विंग कराने की कला भी बखूबी विराजमान है.

ऐसे में वन-डे टीम के साथ-साथ टेस्ट टीम में बुमराह पर अपनी जगह पक्की करने के लियें शानदार प्रदर्शन करने का दबाव भी होगा क्योंकि एक एशियाई गेंदबाज के लियें साउथ अफ्रीका जैसी तेज़ व गेंदबाजों के लिए मददगार पिचों पर पदार्पण किसी सोने पर सुहागा होने जैसे मौके से कम नहीं है. बुमराह अपने इस मौके को कितना भुना पातें है ये आने वाला वक़्त बतायेगा.

गुजरात के अहमदाबाद से आने वाले 24 वर्षीय दाएं हाथ के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने जल्द ही रंगारंग क्रिकेट IPL के दम पर भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की की है. वो अब भारत के लिए सिमित ओवर में खेलने वालें प्रमुख गेंदबाज बन गये हैं. बुमराह के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की बात करें तो वनडे में उन्होंने अब तक खेले अपने 31 मैचों में 56 विकेट लिए हैं और 27 रन देकर 5 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है। वहीं 32 टी20 मैचों में उनके नाम पर 40 विकेट हैं और 11 रन देकर 3 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन है।

MS Dhoni Academy

सिंगापुर में क्रिकेट अकादमी खोलेगे एमएस धोनी

Javed Miandad

पकिस्तान बोर्ड मत मांगो BCCI से भींख, भूल जाओ भारत के साथ सीरीज: जावेद मियांदाद