IPL 2022: प्लेऑफ की दौड़ में शामिल होने के बावजूद पूर्व क्रिकेटरों ने पंजाब किंग्स (PBKS) को किया टारगेट - क्रिकट्रैकर हिंदी

IPL 2022: प्लेऑफ की दौड़ में शामिल होने के बावजूद पूर्व क्रिकेटरों ने पंजाब किंग्स (PBKS) को किया टारगेट

वसीम जाफर और दीप दासगुप्ता ने आईपीएल 2022 में पंजाब किंग्स (PBKS) के प्रदर्शन पर अपने-अपने विचार साझा किए।

Punjab Kings. (Photo Source: IPL/BCCI)
Punjab Kings. (Photo Source: IPL/BCCI)

पंजाब किंग्स (PBKS) जारी आईपीएल 2022 (IPL 2022) में 11 लीग मैचों में से पांच जीतकर दस अंको के साथ अंक तालिका में आठवें स्थान पर है। पंजाब किंग्स (PBKS) का शेष दो मैचों में सामना दिल्ली कैपिटल्स (DC) और सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) से क्रमशः 16 और 22 मई को हैं, और अगर फ्रेंचाइजी आईपीएल 2022 (IPL 2022) के  प्लेऑफ में जगह बनाना चाहती हैं, तो उन्हें शेष दो लीग मैचों को बड़े अंतर से जीतने होंगे हैं।

हाल ही में, पूर्व भारतीय क्रिकेटरों और क्रिकट्रैकर विशेषज्ञ वसीम जाफर और दीप दासगुप्ता ने जारी आईपीएल 2022 (IPL 2022) में पंजाब किंग्स (PBKS) के प्रदर्शन पर अपने-अपने विचार साझा किए।

नाम बड़े और दर्शन छोटे- ये कहावत वसीम जाफर के अनुसार पंजाब किंग्स पर ठीक बैठती है

वसीम जाफर ने क्रिकट्रैकर पर Sky247.net द्वारा प्रस्तुत ‘नॉट जस्ट क्रिकेट’ शो पर कहा: आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन के बाद, पंजाब किंग्स कागज पर सबसे अच्छी टीमों में से एक थे, जिसमें पावर-पैक खिलाड़ी शामिल थे। हालांकि, उन्होंने अपने कद के अनुसार प्रदर्शन नहीं किया हैं। वे हमेशा खुद को उसी स्थिति में पाते हैं, जहां उन्हें प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने के लिए बचे हुए अंतिम सभी मैच जीतने होते हैं।”

उन्होंने आगे कहा: “इस बार बाकी बचे मैच जीतने के साथ-साथ उन्हें अपने नेट रन रेट में भी सुधार करना होगा और निश्चित रूप से इस सीजन में वे थोड़े निराशाजनक रहे हैं। कगिसो रबाडा ने विकेट तो लिए हैं, लेकिन राहुल चाहर ने उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है। अर्शदीप सिंह किफायती रहे हैं, लेकिन उन्होंने विकेट नहीं लिए हैं। कोई भी गेंदबाज अब तक टीम के लिए मैच नहीं जीत पाया है।”

दीप दासगुप्ता को कगिसो रबाडा ने किया प्रभावित

इस बीच, दीप दासगुप्ता ने क्रिकट्रैकर के शो पर कहा: “पिछले कुछ संस्करणों तक, कगिसो रबाडा नई गेंद से पर्याप्त विकेट नहीं ले सके, लेकिन इस सीजन में उनकी लेंथ में सुधार हुआ है और वह विकेट लेने वाले  फॉर्म में हैं। इस साल भी उनका इस्तेमाल अलग रहा है। आम तौर पर, उन्होंने पिछले साल तक अपने अधिकांश ओवर बीच और डेथ ओवरों में फेंके। लेकिन रबाडा दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हैं, तो जाहिर सी बात है कि जब उन्होंने विकेट लेने की कोशिश की तो उन्होंने अपनी क्लास का प्रदर्शन किया। मानसिकता ऐसी है कि उन्हें पूरे टूर्नामेंट में विकेट लेने वाले गेंदबाज के रूप में इस्तेमाल किया गया है।”