in , , ,

आईपीएल टूर्नामेंट के इतिहास में 5 सबसे खराब संकेत

2014 में युवराज को 14 करोड़ रुपये के लिए खरीदे जाने के बाद यह शायद आरसीबी के लिए दूसरी सबसे खराब खरीद थी टायमल मिल्स

Pawan Negi
Pawan Negi. (Photo Source: Getty Images)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) क्रिकेटरों के लिए अपनी योग्यता साबित करने के लिए एक महान मंच है. यह एक खिलाड़ी को बड़े मंच पर खुद को व्यक्त करने का अवसर प्रदान करता है. कई क्रिकेटरों को आईपीएल खेलने में कुछ बड़ी सफलता मिली है. इंडियन प्रीमियर लीग ने दुनिया भर में क्रिकेट को देखने के तरीके को बदल दिया है. इसने खेल में कई नए आयाम लाए और एक बड़ी क्रांति के रूप में है. लेकिन इस आईपीएल में कभी खिलाड़ी हिट तो कभी फ्लॉप भी हों जाता है. जिसकी वजह से खिलाड़ियो के करियर को नुकसान पहुँचता है. आज हम ऐसे ही 5 खिलाड़ियो के बारे में बात करेंगे जिनका प्रदर्शन आईपीएल में एक खराब संकेत रहा.

आईपीएल के इतिहास में सबसे बुरी तरह संकेत हैं:

1. युवराज सिंह: 16 करोड़ (दिल्ली डेयरडेविल्स आईपीएल-2015)

युवराज सिंह सुर्खियों में थे जब दिल्ली डेयरडेविल्स ने नीलामी में उन्हें खरीदने के लिए 16 करोड़ रुपये खर्च किए. यह तब तक किसी खिलाड़ी पर अब तक का सबसे ज्यादा खर्च किया गया था. आरसीबी जिन्होंने 2014 में 14 करोड़ रुपये के लिए उन्हें खरीदा था. दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ एक भयंकर बोली-प्रक्रिया में शामिल था.
युवराज ने बल्लेबाजी के साथ लगभग 19 रन बनाये क्योंकि उन्होंने उस सत्र में 14 खेलों में 248 रन बनाए. उस सत्र में उनका सर्वोच्च स्कोर 57 था. जिसका मतलब था कि उन्होंने शेष 13 खेलों में केवल 191 रन बनाए थे. इसके अलावा उस स्ट्राइक रेट ने उस सीजन में ज्यादा था. और यह लगभग 118 के आसपास था. गेंद के साथ उन्होंने पूरे सत्र में केवल एक विकेट लिया. उन्होंने नौ ओवरों में गेंदबाजी की, उन्होंने 8 ओवर पर 72 रन दे दिए.

2. टायमल मिल्स: 12 करोड़ (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर आईपीएल 2017)

2014 में युवराज को 14 करोड़ रुपये के लिए खरीदे जाने के बाद यह शायद आरसीबी के लिए दूसरी सबसे खराब खरीद थी. टायमल मिल्स ने भारत के खिलाफ 3-मैच टी 20 आई श्रृंखला खेली थी. हालांकि वह महंगे थे. फिर भी उन्होंने गेंदबाजी की मौत पर शानदार ढंग से उन्होंने मनीष पांडे, हार्डिक पंडया और युवराज सिंह की उस श्रृंखला में खेले गए तीन मैचों में कीमतों को चुना. इसके अलावा उन्होंने एक शानदार धीमी गेंदबाजी की जिसकी गति लगभग 100 किमी प्रति घंटे तक रही. जबकि उनकी स्टॉक डिलीवरी बल्लेबाजों के करीब 140 किमी प्रति घंटे रही.
ये टी 20 में बहुत उपयोगी है जहां बल्लेबाज पार्क के बाहर हर गेंद को मारने लगते हैं. इसलिए नीलामी में आरसीबी के साथ 12 करोड़ रुपये के सौदे को हासिल करने के लिए उनकी बहुत मांग थी. मिल्स ने 8.5 के इकनॉमी रेट से पांच विकेट और पांच के औसत के करीब रहा.

3. पवन नेगी: 8.5 करोड़ (दिल्ली डेयरडेविल्स आईपीएल 2016)

2015 में पवन नेगी चेन्नई सुपर किंग्स के साथ एक अच्छा सीजन रहा जहां उनका निचले क्रम के बल्ले के साथ शानदार प्रदर्शन रहा था उन्होंने 2015 में 159 की स्ट्राइक रेट से स्कोर बनाया और बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया इसके अलावा उन्हें 2016 में डब्ल्यूटी 20 टीम के लिए चुना गया था जिसे आईपीएल से पहले खेला गया था यही कारण रहा कि उनके लिए बोली लगाने के लिए कई फ्रेंचाइजी टीम  में दिलचस्पी रहा. क्योंकि सीएसके आईपीएल 2016 का हिस्सा नहीं था और वह खिलाड़ी की लाइन में वापस आ गया था.
दिल्ली डेयरडेविल्स ने उन्हें 8.5 करोड़ रुपये की भारी कीमत पर खरीदा जो उनके लिए एक मोड़ साबित हुआ नेगी ने उस सत्र में 8 गेम खेले और बल्ले के साथ 57 रन बनाये जिसमे उनका स्ट्राइक रेट 100 के करीब का रहा. इसके अलावा वह गेंद के साथ भी कुछ खास नही कर पाए. नेगी ने 84 के औसत और 9 से अधिक की इकॉनॉमी रेट से 8 मैचों में केवल एक विकेट लिया.

4. मशरफी मुर्तजा: ($ 600,000) (कोलकाता नाइट राइडर्स-आईपीएल 2009)

मशरफी 2009 में बहुत चर्चित खिलाड़ी रहे थे कोलकाता नाइट राइडर्स ने उन्हें सीजन में खेलने के लिए भारी रकम चुकायी थी मुर्तजा एक शानदार ऑलराउंडर है और अपने बल्लेबाजी प्रतिभा से अधिक गेंद के साथ उनका प्रदर्शन शानदार रहता है हालांकि वह बल्ले से गेंद को काफी आसानी से लम्बा शॉर्ट भी मारने में सक्षम है  मुर्तजा तब IPL में सबसे ज्यादा भुगतान किए गए किसी भी और बांग्लादेशी  क्रिकेटरों में से एक बन गया उनकी खुशी लंबे समय तक नहीं टिकी.
केकेआर के लिए अपने पहले मैच में मुर्तजा का एक जबरदस्त आउटिंग था उनका पहला मैच उनका आखिरी मैच साबित हुआ क्योंकि वह बल्ले और गेंद दोनों में नाकाम रहे. बल्ले के साथ 2 रन बनाने के बाद वह आउट हो गए. गेंद के साथ उनका प्रदर्शन और भी बदतर था उन्होंने अपने चार ओवरों में 58 रन दे दिए और उनके नाम के खिलाफ कोई विकेट नहीं मिला यह मैच केकेआर की ओर दिखता था क्योंकि डेक्कन चार्जर्स को जीत के लिए आखिरी ओवर में 21 रनों की जरूरत थी उस परिस्थिति में यह एक कठिन पीछा है हालांकि आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज मुर्तजा ने उन्हें आईपीएल के सबसे खराब संकेतों में से एक बनाने में मदद नहीं की.

5. मोहम्मद असिफ: ($ 650,000) (दिल्ली डेयरडेविल्स-आईपीएल 2008)

मोहम्मद असिफ 2008 में आईपीएल में खेले जाने वाले कुछ पाकिस्तानी क्रिकेटरों में से एक हैं वह एक बेहद प्रतिभाशाली तेज गेंदबाज हैं और बल्लेबाजों को अपनी गति से तेज करते हैं हालांकि वह अपने पूरे करियर में कई ऑफ-फील्ड विवादों में शामिल रहे थे उन्हें 2008 में 650,000 डॉलर की भारी कीमत के लिए दिल्ली डेयरडेविल्स द्वारा खरीदा गया था लेकिन वह भुगतान किए गए पैसे के लिए छोटी रकम साबित हुई.
उन्होंने आईपीएल के उद्घाटन सत्र में 8 गेम खेले उस सत्र में उन्होंने 32 ओवरों में गेंदबाजी की उन्होंने 96 की इकोनॉमी रेट से पर 296 रन दे दिए वह उस सत्र में 8 विकेट लेने में कामयाब रहे थे.

Virat Kohli & Rohit Sharma

मुंबई इंडियंस ने आरसीबी के खिलाफ टॉस जीतकर लिया गेंदबाज़ी का निर्णय

Virat Kohli. (Photo Source: Twitter)

आरसीबी की जीत के बाद ट्विटर पर फैन्स ने इस तरह से व्यक्त की अपनी प्रतिक्रिया