रॉबिन उथप्पा चाहते हैं कि भारत के पास सभी फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान हो! - क्रिकट्रैकर हिंदी

रॉबिन उथप्पा चाहते हैं कि भारत के पास सभी फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान हो!

केएल राहुल ने पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ की वनडे सीरीज में कप्तानी की थी जिसमें भारत 0-3 से हार गया था।

Robin Uthappa speaking
Robin Uthappa speaking. (Photo Source: Twitter)

भारत के पूर्व क्रिकेटर रॉबिन उथप्पा का मानना है कि भारतीय टीम में इस समय काफी परेशानी में है और साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि भविष्य में भारतीय टीम के किस खिलाड़ी को अलग-अलग प्रारूपों का कप्तान नियुक्त करना चाहिए।

जहां एक तरफ भारत के कप्तान रोहित शर्मा अपने क्रिकेटिंग करियर के आखिरी समय में चल रहे हैं उनका मानना है कि बोर्ड को भविष्य के लिए नए कप्तान को नियुक्त करना चाहिए। रॉबिन उथप्पा का मानना है कि जसप्रीत बुमराह को फुल टाइम टेस्ट टीम का कप्तान नियुक्त कर देना चाहिए।

बता दें, बुमराह ने हाल ही में रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट मुकाबले में भारतीय टीम की कप्तानी की। हालांकि भारत यह मुकाबला हार गया और इंग्लैंड ने पांच मुकाबलों की टेस्ट सीरीज में 2-2 की बराबरी की। मुकाबला हारने के बावजूद कई एक्सपर्ट ने बुमराह की कप्तानी की तारीफ में। इसी बीच उथप्पा ने बुमराह को टेस्ट टीम की कप्तानी सौंपने का बयान दिया है।

शेयरचैट ऑडियो चैट रूम के सेशन में उथप्पा ने कहा कि, ‘मेरे हिसाब से जसप्रीत बुमराह टेस्ट क्रिकेट के लिए बेहतरीन कप्तान होंगे। वनडे क्रिकेट में मेरा मानना है कि केएल राहुल या ऋषभ पंत को कप्तान नियुक्त करना चाहिए।

बता दें, केएल राहुल ने पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मुकाबलों की वनडे सीरीज में कप्तानी की थी जिसमें भारत 0-3 से हार गया था। वहीं दूसरी तरफ ऋषभ पंत अभी काफी युवा है और उन्हें आने वाले सालों में काफी मेहनत करने की जरूरत है।

मुझे नहीं लगता कि हमें विराट कोहली के लिए कुछ भी कहना चाहिए: रोबिन उथप्पा

रोबिन उथप्पा ने विराट कोहली का साथ देते हुए कहा कि किसी को भी हक नहीं है कि कोई उनके बारे में गलत बोले। उन्होंने कई मुकाबलों में भारत के लिए महत्वपूर्ण रन बनाए हैं और टीम को जीत दिलाई है। रॉबिन उथप्पा के मुताबिक विराट कोहली अभी भी वह 100 शतक जड़ सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि जब विराट कोहली रन बना रहे थे तब वो हर मुकाबले में शतक बना रहे थे इसलिए किसी को यह नहीं बोलना चाहिए कि वो अच्छा खेल रहे हैं या बुरा। किसी का हक नहीं बनता उनके खेल के बारे में बोलने का। उन्होंने 70 शतक अपनी काबिलियत से जड़े हैं और आने वाले समय में 30-35 शतक और जड़ सकते हैं।