कनेरिया विवाद में शाहिद अफरीदी ने भारत पर साधा निशाना, बताया अपना 'दुश्मन देश' - क्रिकट्रैकर हिंदी

कनेरिया विवाद में शाहिद अफरीदी ने भारत पर साधा निशाना, बताया अपना ‘दुश्मन देश’

दानिश कनेरिया ने पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी पर खेल के दिनों में उनके साथ साजिश रचने का आरोप लगाया था।

Danish Kaneria and Shahid Afridi. (Photo Source: Twitter and Getty Images)
Danish Kaneria and Shahid Afridi. (Photo Source: Twitter and Getty Images)

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने अपने पूर्व साथी खिलाड़ी दानिश कनेरिया द्वारा कुछ गंभीर आरोप लगाने के बाद अब उन पर पलटवार किया है। कनेरिया ने अफरीदी पर अपने खेल के दिनों में उनके साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया था। उन्होंने अफरीदी को एक “झूठा” और एक “चरित्रहीन व्यक्ति” करार दिया था। उन्होंने आगे आरोप लगाया कि अफरीदी ने उनकी आस्था और धार्मिक विश्वासों के लिए उन्हें निशाना बनाया और उन्हें अपना धर्म बदलने के लिए मजबूर किया।

उन दावों को खारिज करते हुए अफरीदी ने कहा है कि उस वक्त वह खुद सिर्फ धर्म का मतलब समझ रहे थे, जबकि कनेरिया “मेरे छोटे भाई जैसे थे”। अफरीदी ने कनेरिया के इरादों पर भी सवाल उठाया और दावा किया कि उन्होंने ये आरोप केवल “सस्ती प्रसिद्धि पाने और पैसा कमाने के लिए” लगाया है।

अफरीदी ने thenews.com.pk के हवाले से कहा कि, “और जो व्यक्ति यह सब कह रहा है, उसके अपने चरित्र को देखिए।” कनेरिया मेरे छोटे भाई की तरह थे और मैं उनके साथ कई सालों तक खेला।”

अफरीदी ने सवाल किया कि कनेरिया को यह स्वीकार करने में इतना समय क्यों लगा, अगर ऐसा हुआ है। उन्होंने कहा, “अगर मेरा रवैया खराब था तो उसने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड या उस विभाग से शिकायत क्यों नहीं की जिसके लिए वह खेल रहा था। वह हमारे दुश्मन देश को इंटरव्यू दे रहे हैं जो धार्मिक भावनाओं को भड़का सकते हैं।”

शाहिद अफरीदी मुझे पाकिस्तान टीम की टीम में नहीं देखना चाहते थे: दानिश कनेरिया

कनेरिया ने पहले दावा किया था कि अफरीदी नहीं चाहते थे कि वह पाकिस्तान टीम का हिस्सा बने और उन्होंने “ईर्ष्या” के कारण राष्ट्रीय टीम के अन्य सदस्यों को उनके खिलाफ उकसाया था। पूर्व पाक स्पिनर ने इंटरव्यू में कहा कि, “वह नहीं चाहता था कि मैं लिमिटेड ओवर क्रिकेट खेलूं। वह नहीं चाहता था कि मैं टीम में रहूं।

वह झूठा और मक्कार आदमी था क्योंकि वह कैरेक्टरलेस है। हालांकि मेरा फोकस सिर्फ क्रिकेट खेलने पर था तो मैं इस तरह की हरकतों को नजरअंदाज करता था। शाहिद बाकी खिलाड़ियों को मेरे खिलाफ भड़काता था। मुझे लगता है कि वह मुझसे जलता था, मुझे इस बात पर गर्व है कि मैं पाकिस्तान के लिए खेल पाया।”