अपनी मैच विनिंग पारी की तारीफ में काफी कुछ बोल गए किंग कोहली - क्रिकट्रैकर हिंदी

अपनी मैच विनिंग पारी की तारीफ में काफी कुछ बोल गए किंग कोहली

अभी तक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली में जो मैंने पारी खेली थी वह मेरी सर्वश्रेष्ठ पारी थी, लेकिन अब मैं इसको अपनी सर्वश्रेष्ठ इनिंग कहूंगा: विराट कोहली

virat kohli (pic source-twitter)
virat kohli (pic source-twitter)

23 अक्टूबर को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) में भारत और पाकिस्तान के बीच ग्रुप 12 स्टेज का शानदार मुकाबला खेला गया जिसमें रोहित शर्मा की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने 4 विकेट से जीत दर्ज की। इस मैच में अनुभवी बल्लेबाज विराट कोहली ने एक ऐसी पारी खेली जो काफी लंबे समय तक फैंस को याद रहेगी।

यहां तक कि कमेंटेटर्स ने भी मैच के दौरान कहा कि विराट कोहली को इसीलिए ‘किंग कोहली’ कहा जाता है। बता दें, पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 159 रन बनाए। टीम की ओर से इफ्तिखार अहमद ने 24 गेंदों में 2 चौके और 4 छक्के की मदद से 53 रन जबकि शान मसूद ने 42 गेंदों में पांच चौके की मदद से 52* रन की शानदार अर्धशतकीय पारी खेली।

160 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और उनके दोनों सलामी बल्लेबाज कप्तान रोहित शर्मा और केएल राहुल 4-4 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। सूर्यकुमार यादव भी 15 रन बनाकर हारिस राउफ का शिकार हुए। हालांकि विराट कोहली ने एक छोर संभाला और 53 गेंदों में 82* रन की नाबाद पारी खेल भारतीय टीम को इस ऐतिहासिक मुकाबले में जीत दर्ज करवाई। कोहली ने अपनी पारी में 6 चौके और 4 छक्के जड़े। उनके अलावा हार्दिक पांड्या ने 37 गेंदों में 40 रन बनाए।

जहां एक तरफ सभी भारतीय बल्लेबाज को पाकिस्तानी गेंदबाजों को काफी मुश्किल तरीके से खेल रहे थे वहीं दूसरी और विराट कोहली ने किसी भी पाकिस्तानी गेंदबाज को नहीं बख्शा और बेहतरीन बल्लेबाजी की। मैच के बाद विराट कोहली ने अपनी इस शानदार पारी को लेकर बड़ा बयान दिया।

मुझे अंदर से लग रहा था कि हम इस मुकाबले को जीत सकते हैं: विराट कोहली

विराट कोहली ने मैच के बाद कांफ्रेंस में कहा कि, ‘यह एक शानदार माहौल था। मेरे पास शब्द नहीं है, पता नहीं यह कैसे हुआ। हार्दिक का मानना था कि अगर हम दोनों अंत तक टिके रहे तो इस मैच को अपने नाम कर सकते हैं। जब शाहीन अफरीदी पवेलियन छोर से गेंदबाजी करने आए तब हमने सोचा कि उनपर कड़ा प्रहार किया जाए।

हारिस उनके सबसे अनुभवी गेंदबाज हैं और मैंने उनके एक ही ओवर में दो छक्के जड़े। गणित बिल्कुल सीधी थी। नवाज का एक ओवर बचा हुआ था, तो अगर हम हारिस के ऊपर कड़ा प्रहार करते तो उनके ऊपर वैसे ही दबाव आ जाता।’

किंग कोहली ने आगे कहा कि, ‘पहले 8 गेंदों में 28 रन चाहिए थे, फिर मैंने जब 2 छक्के जड़े तो हमें 6 गेंदों पर 16 रन बनाने थे। मुझे अंदर से लग रहा था कि अब हम इस मुकाबले को आराम से जीत सकते हैं। जब मैं यहां खड़ा हुआ था तब मुझे लगा कि यह पल मेरे लिए ही बना है।

अभी तक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली में जो मैंने पारी खेली थी वह मेरी सर्वश्रेष्ठ पारी थी, लेकिन अब मैं इसको अपनी सर्वश्रेष्ठ इनिंग कहूंगा। हार्दिक ने मेरा खूब साथ दिया। दर्शकों ने भी हमारा खूब साथ दिया। आप सब मेरा ऐसे ही समर्थन कीजिए और मैं आपको निराश नहीं करुंगा।’