आखिर किसके कहने पर अर्जुन तेंदुलकर को मिली रणजी टीम में जगह, मुख्य चयनकर्ता सलिल अंकोला ने बताया - क्रिकट्रैकर हिंदी

आखिर किसके कहने पर अर्जुन तेंदुलकर को मिली रणजी टीम में जगह, मुख्य चयनकर्ता सलिल अंकोला ने बताया

मुंबई की टीम 13 जनवरी को रणजी ट्रॉफी 2021 की अभियान की शुरुआत करेगी।

Arjun Tendulkar. (Photo Source: Arjun Tendulkar/Instagram)
Arjun Tendulkar. (Photo Source: Arjun Tendulkar/Instagram)

29 दिसंबर को, मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन की वरिष्ठ चयन समिति ने महाराष्ट्र और दिल्ली के खिलाफ पहले दो रणजी ट्रॉफी मुकाबलों के लिए 20 सदस्यीय टीम का चयन किया। सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को भी पहली बार टीम में चुना गया है। यशस्वी जायसवाल, सरफराज खान और अरमान जाफर जैसी युवा प्रतिभाएं वाली टीम की कमान पृथ्वी शॉ को दी गई है।

पूर्व कप्तान आदित्य तरे जिन्हे विजय हजारे ट्रॉफी टूर्नामेंट के लिए आराम दिया गया था उन्हें भी टीम में चुना गया है। मुख्य चयनकर्ता और पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज सलिल अंकोला ने अर्जुन के टीम में चयन के पीछे का कारण बताया। उन्होंने कहा कि ऑलराउंडर इस साल लगी चोट से उबरने के बाद अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं, चोट की वजह से वह आईपीएल के दूसरे चरण का हिस्सा नहीं बन पाए थे।

सलिल अंकोला ने बताया आखिर क्यों उन्होंने अर्जुन तेंदुलकर को टीम में शामिल किया

इंडियन एक्सप्रेस के हवाले से सलिल अंकोला ने कहा कि, “अर्जुन (तेंदुलकर) अच्छी गेंदबाजी कर रहा है, दुर्भाग्य से, वह बीच में चोटिल हो गया था, लेकिन उसके बाद उसने जो भी मैच खेले उसमें अच्छा प्रदर्शन किया। हमने मुंबई क्रिकेट के भविष्य को देखते हुए एक टीम चुनी है।”

मुंबई को आगामी रणजी सीजन ने तुषार देशपांडे और सूर्यकुमार यादव जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को जगह मिलेगी। देशपांडे चोटिल होने की वजह से टीम से बाहर हैं वहीं सूर्यकुमार दक्षिण अफ्रीका में होने वाले वनडे सीरीज में भारतीय टीम के साथ होंगे जिस वजह से वह रणजी के इस सीजन में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

अंकोला ने कहा कि, “दुर्भाग्य से हमारे तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे चोटिल हैं लेकिन यह एक आशाजनक टीम है। यह मिली-जुली टीम है, जहां हमने अंडर-19 के खिलाड़ियों को चुना है जो कुछ सालों से मुंबई की टीम का हिस्सा भी हैं। उन्होंने आगे ये भी कहा कि, “दुर्भाग्य से महामारी के कारण, रेड-बॉल क्रिकेट पिछले साल नहीं हो सका, लेकिन हमने सभी क्षेत्रों को कवर करने की कोशिश की है।

प्रिंस बडियानी जैसे कुछ युवा खिलाड़ी हैं, जिन्होंने हमारे लिए अंडर 19 में अच्छा प्रदर्शन किया। हम उन्हें प्रमोट करना चाहते थे और देखना चाहते थे कि वो बड़े मंच पर कैसा प्रदर्शन करते हैं।”