'मीडिया के सामने थोड़ा संभलकर बोलें'- रोहित और द्रविड़ को जडेजा ने दी चेतावनी - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘मीडिया के सामने थोड़ा संभलकर बोलें’- रोहित और द्रविड़ को जडेजा ने दी चेतावनी

एशिया कप के दौरान रोहित ने कहा था कि उन्हें टीम कॉम्बिनेशन को लेकर अभी कुछ सवालों के जवाब खोजने हैं

Rahul Dravid and Rohit Sharma. (Photo Source: Getty Images)
Rahul Dravid and Rohit Sharma. (Photo Source: Getty Images)

एशिया कप 2022 में भारतीय टीम का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था। टीम इंडिया उस टूर्नामेंट में सुपर 4 चरण से ही बाहर हो गई थी। रोहित शर्मा की अगुवाई वाली भारतीय टीम को सुपर-4 चरण में पाकिस्तान और श्रीलंका से लगातार हार का सामना करना पड़ा। इस दौरान प्लेइंग इलेवन के साथ भारत के लगातार प्रयोग करने को लेकर भी सवाल उठाए गए थे।

वहीं कप्तान रोहित ने श्रीलंका के खिलाफ हार के बाद भी कहा था कि, उन्हें टीम कॉम्बिनेशन को लेकर अभी कुछ सवालों के जवाब खोजने हैं। उनका यह बयान उस समय दिलीप वेंगसरकर और सुनील गावस्कर सहित कई पूर्व क्रिकेटरों को रास नहीं आया था और सभी ने इसको लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी।

टीम कॉम्बिनेशन को लेकर कोई कन्फ्यूजन नहीं होना चाहिए- अजय जडेजा

अब पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा ने इस तरह के बयान को लेकर रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ को सलाह दी है। अजय जडेजा ने कहा है कि इस तरह के बयान मीडिया के सामने नहीं दिए जाने चाहिए। इससे कन्फ्यूजन और भी ज्यादा हो जाता है। जडेजा ने यह भी कहा कि, कप्तान और कोच को एक ही बयान पर कायम रहना चाहिए।

क्रिकबज के साथ बातचीत करते हुए जडेजा ने कहा कि, ‘हार और जीत खेल का हिस्सा होते हैं। लेकिन टीम कॉम्बिनेशन को लेकर कोई कन्फ्यूजन नहीं होना चाहिए। यहां इस तरह के बयान नहीं आने चाहिए कि कुछ चीजों पर काम कर रहे हैं। आपको यह बात समझनी होगी कि आपकी टीम में जो खिलाड़ी हैं, उनके परिवार भी हैं। जब वह यह सब पढ़ते हैं तो कई बातें बनती हैं। मीडिया के सामने कोच और कप्तान को अपने बयानों में समानता रखनी चाहिए।’

पूर्व क्रिकेटर ने आगे कहा कि, ‘अगर आप हर मैच के नतीजे के बाद अपनी टीम में बदलाव करते रहेंगे तो इससे टीम में कन्फ्यूजन बढ़ेगा। इसे दूर किया जा सकता है। मैं जानता हूं कि टीम इंडिया के कप्तान और कोच में अच्छा तालमेल है लेकिन यह तालमेल मीडिया के सामने भी दिखाई देना चाहिए। आपको हमेशा कुछ जरूरी चीजें तो प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहनी ही होती है। लेकिन आपकी टीम को पता होना चाहिए कि यह क्यों कही जा रही है।’