in ,

निदाहस ट्राफी के खत्म होने बाद ये रिकार्ड्स बने पूरी सीरीज के दौरान

इस टूर्नामेंट के दौरान कोई भी टीम एकबार भी आलआउट नहीं हुयीं. ऐसा किसी टी-20 सीरीज या टूर्नामेंट में दूसरी

Dinesh Karthik celebrates the win with teammates. (Photo Source: Twitter)
Dinesh Karthik celebrates the win with teammates. (Photo Source: Twitter)

निदाहस ट्राफी जिसको श्रीलंका ने अपनी आज़ादी के 70 साल पूरे होने की खुशी में आयोजित किया था उसमे मेजबान टीम का फाइनल मैच में नहीं पहुँचने के बावजूद भी इस टूर्नामेंट का फाइनल मैच का अंत काफी रोमांचक तरीके से हुआ. जिसमे दिनेश कार्तिक ने फाइनल मैच में आखिरी गेंद पर 6 रन मारकर भारतीय टीम को इस ट्राई सीरीज का विजेता बना दिया. इस सीरीज में हमने बांग्लादेशी क्रिकेट खिलाड़ियों से श्रीलंका के खिलाफ मिली जीत के दौरान जश्न को देखा था जिसके कारण फाइनल में जब भारत को जीत मिली तो पूरे स्टेडियम में हमने इस जश्न को देखा.

इस फाइनल मैच ये रिकार्ड्स बने :

1. इस टूर्नामेंट के दौरान कोई भी टीम एकबार भी आलआउट नहीं हुयीं. ऐसा किसी टी-20 सीरीज या टूर्नामेंट में दूसरी बार हुआ जब 5 या उससे अधिक मैच खेले गयें हो और कोई भी टीम आलआउट ना हुयीं हो. पहली बार अभी कुछ समय पहले खत्म हुयीं न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच ट्राई टी-20 सीरीज में इसे देखा गया था.


2. इस टूर्नामेंट में सिर्फ 2 ओवर ही मेडेन फेके गए है जिसमे दोनों ही बार मुस्ताफिजुर रहमान ने ऐसा किया है, रहमान ने श्रीलंका के खिलाफ आखिरी लीग मैच में और भारत के के खिलाफ फाइनल मैच मेडेन ओवर फेका है.


3. शार्दुल ठाकुर ने इस ट्राई सीरीज के दौरान श्रीलंका के खिलाफ 4 लीग मैच में 27 रन देकर 4 विकेट हासिल किये थे जो इस ट्राई सीरीज में सबसे अच्छी गेंदबाजी रही है.इसके आलवा इस टूर्नामेंट के दौरान उनके नाम पर सबसे खराब गेंदबाजी करने का रिकॉर्ड भी कायम वो भी किसी पांच से अधिक टी-20 सीरीज या टूर्नामेंट में.


4. रोहित शर्मा ने एक कप्तान के रूप में 5 वीं बार कोई टी-20 ट्राफी को जीता है. इस मामले में महेंद्र सिंह धोनी ने 6 बार और शोएब मलिक ने 5 बार एक कप्तान के रूप में टी-20 ट्राफी को जीता है.


5. रोहित का एक कप्तान के रूप में किसी भी टी-20 फाइनल मैच में जीतने का रिकॉर्ड 100% है जो पांच फाइनल मैच खेलने वाले किस भी कप्तान का सबसे अधिक है इसके बाद दूसरे नंबर पर इमरान नजीर है जिन्होंने एक कप्तान के रूप में 4 फाइनल खेले है और 4 में उन्हें जीत मिली है.


6. इस टूर्नामेंट में युजवेंद्र चहल और वाशिंगटन सुंदर ने 8 विकेट लिए साथ ही निदाहस ट्राफी में ये दोनों भारत स्पिनर सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने.


7. वाशिंगटन सुंदर सबसे युवा खिलाड़ी बन गये है जिन्हें किसी अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में मैन ऑफ दी सीरीज का अवार्ड दिया गया. इस समय सुंदर की उम्र 18 साल 164 दिन है. वहीँ इस मामले में दूसरे नंबर पर पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान वकार यूनिस है, जिन्हें 1990 में ऑस्ट्रल एशिया कप में 18 साल 169 दिन की उम्र में मैन ऑफ दी सीरीज का आवर्ड मिला था.


8. सुंदर इसके साथ सबसे युवा भारतीय खिलाड़ी भी बन गये है जिन्हें किस सीरीज में मैन ऑफ दी सीरीज का अवार्ड दिया गया हो इससे पहले ये रिकॉर्ड नरेन्द्र हिरवानी के नाम पर था जिन्हें 1988 में शारजाह कप में इस अवार्ड ने नवाजा गया था और उस समय उनकी उम्र 19 साल 166 दिन थी.


9. इस टूर्नामेंट के दौरान कुल 89 छक्के पड़े जिसमे भारतीय टीम ने 31 छक्के उसके बाद श्रीलंका ने 30 छक्के और बांग्लादेश की टीम ने 28 छक्के मारे. शिखर धवन इस ट्राई सीरीज में सबसे अधिक छक्के मारने वाले खिलाड़ी रहे जिन्होंने 10 छक्के इस टूर्नामेंट के दौरान मारे.


10. कुशल परेरा इस ट्राई सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे जिन्होंने कुल 204 रन इस सीरीज में बनाएं. इसके बाद दूसरे नंबर पर मुशफिकुर रहीम 199 और तीसरे पर शिखर धवन 198 रन बनायें. साथ ही कुशल परेरा ऐसे एकलौते बल्लेबाज रहे जिन्होंने इस टूर्नामेंट में 3 अर्धशतक बनाएं.

Virat Kohli. (Photo Source: Twitter)

दिनेश कार्तिक की तारीफ करते हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली ने लिखी ये बात

Dinesh Karthik plays a shot. (Photo Source: Twitter)

दिनेश कार्तिक ने फाइनल मैच में खेली अपनी पारी को बताया अभी तक की सबसे शानदार पारी