in

लक्ष्मण का खुलासा, बर्खास्त नहीं हुए थे अनिल कुंबले, शास्त्री का सिलेक्शन कोहली की पसंद पर नहीं हुआ

कोच कुंबले की कहानी, लक्ष्मण की ज़ुबानी

VVS Laxman.
VVS Laxman.

ये भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे ज्यादा भुला देनी वाली घटना थी। इंडियन क्रिकेट के भूतपूर्व बड़े नाम द्वारा लिए गए एक साक्षात्कार के बाद लिजेंड्री स्पिनर और भूतपूर्व कप्तान अनिल कुंबले एक साल के लिए भारतीय राष्ट्रीय टीम के लिए जून साल 2016 में कोच बने। हालांकि एक साल उपरांत चैंपियंस ट्रॉफी 2017 फाइनल के बाद कप्तान विराट कोहली से मतभेदों की रिपोर्टों के चलते कुंबले ने उच्च पद से खुद को अलग कर लिया, भले ही बीसीसीआई ने उनको एक्सटेंशन दे दिया।

48 वर्षीय ओल्ड फॉर्मर क्रिकेटर ने नीचे उतरने के वक्त प्रशंसकों का हंगामा देखा जो कुंबले और कोहली के समर्थन में पोलराइज़्ड थे। कुंबले को मौजूदा कोच रवि शास्त्री ने रिप्लेस किया था। हालांकि इस एपिसोड के भी कुछ खट्टे पल रहे क्योंकि कुंबले को साल 2016 में जिस प्लम पोस्ट के लिए पसंद किया गया था उस पद को हथियाने में शास्त्री नाकामयाब हो गए थे।

क्रिकेट एडवाइज़री कमेटी के तीन सदस्यों में से एक जिनको उस समय भारत का कोच चुनने का काम सौंपा गया था भूतपूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने इस मामले पर हाल ही में प्रकाश डाला है। सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली ने कमेटी के दो अन्य मेंबर्स की भूमिका का निर्वहन किया।

‘कुंबले को किसी ने बर्खास्त नहीं किया’

“‘कुंबले को किसी ने बर्खास्त नहीं किया। जहां तक कोहली का मामला है यह एक मुद्दा था। वो कुंबले की स्टाइल से सहज नहीं थे। बीसीसीआई ने सीएसी को इस मसले को सुलझाने बुलाया था। हमने महसूस किया कि अनिल ने शानदार काम किया है लेकिन कठिन परिस्थितियों के चलते उन्होंने इस्तीफा दे दिया। यदि मैं उस परिस्थिति में होता तो मैं भी ऐसा ही करता,” लक्ष्मण ने चेन्नई में सोमवार को हिंदू लिट फॉर द लाइफ फेस्ट 2019 में ‘द सबलाइम क्रिकेटर’ शीर्षक से हुई एक चर्चा में यह बात कही। स्पोर्ट्सस्टार ने इसे रिपोर्ट किया।

44 वर्षीय ओल्ड क्रिकेटर ने कहा सीएसी ने बोर्ड के समक्ष भारत को प्रगति की ओर ले जाने के मुद्दे पर अपना रुख साफ कर दिया था कि इस मामले में कुंबले फिट व्यक्ति थे। उन्होंने यह भी कहा कुंबले के इस्तीफे के बाद शास्त्री सबसे अच्छा विकल्प थे और यह कोहली की तरज़ीह से नहीं हुआ था। “अनिल खेल की एक किवदंती हैं। भारतीय क्रिकेट में उनका योगदान अपार है। चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान अनावश्यक बैड प्रेस उनको मिला उसके लिए उनको अनसुना कर दिया गया। वे इसके हकदार नहीं थे,” लक्ष्मण ने कुंबले के बारे में कहा, जो भारत के लिए टेस्ट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले और विश्व में इस मामले में तीसरे नंबर पर हैं।

Aron finch wicket( image source: Twitter Handle)

एरॉन फिंच दूसरे वनडे में भी हुए भुवनेश्वर कुमार के शिकार, फिर दोहाराई पहले वनडे की कहानी

australia team ( image source: twitter)

भारतीय टीम ने की 5 बड़ी गलतियां, 250 रन पर आउट हो सकती थी ऑस्ट्रेलिया टीम, नंबर 3 सबसे अहम!