पुजारा पर अभी भी कोच द्रविड़ का भरोसा बरकरार, शून्य पर आउट होने के बावजूद थपथपाई उनकी पीठ - क्रिकट्रैकर हिंदी

पुजारा पर अभी भी कोच द्रविड़ का भरोसा बरकरार, शून्य पर आउट होने के बावजूद थपथपाई उनकी पीठ

सेंचुरियन टेस्ट मैच में पुजारा बिना खाता खोले ही पवेलियन को लौट गए।

Cheteshwar Pujara and Rahul Dravid. (Photo Source: Disney+Hotstar)
Cheteshwar Pujara and Rahul Dravid. (Photo Source: Disney+Hotstar)

टेस्ट मैचों में चेतेश्वर पुजारा का खराब प्रदर्शन अभी भी जारी है, सेंचुरियन के मैदान पर खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में वह बिना खाता खोले पवेलियन को लौट गए। दाएं हाथ के बल्लेबाज पुजारा पिछले कुछ समय से लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं, जिस वजह से टीम में उनकी जगह को लेकर सवाल उठने लगे हैं। उनके बल्ले से आखिरी टेस्ट शतक जनवरी 2019 में आया था।

श्रेयस अय्यर और सूर्यकुमार यादव जैसे युवाओं के टीम में होने के कारण, कई लोग पुजारा को बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन से बाहर करना चाहते थे। हालांकि, टीम प्रबंधन ने ऐसा कुछ भी नहीं किया और उन्हें पहले टेस्ट मैच में खेलने का मौका मिला। हालांकि, पुजारा यहां भी कुछ खास कमाल नहीं कर सके और पहली गेंद पर आउट होकर पवेलियन लौट गए।

पुजारा के आउट होने के साथ ही ट्विटर पर फैंस ने उनके ऊपर अपना गुस्सा निकाला और अनुभवी बल्लेबाज को बेरहमी से ट्रोल किया। हालांकि, टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ पुजारा की विफलता को देखने के बाद कुछ अलग अंदाज में उनको प्रोत्साहित करते हुए दिखे। दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें द्रविड़ पुजारा को पीठ में थपथपाते हुए नजर आ रहे हैं।

यहां देखिए पुजारा और द्रविड़ का वह वीडियो

यह फुटेज पुजारा के आउट होने के बाद ड्रेसिंग रूम की है। द्रविड़ के आने से पहले वह जसप्रीत बुमराह और प्रियंक पांचाल के साथ खड़े थे। उसी वक्त द्रविड़ वहां पर आए और उनकी पीठ थपथपाई, वहीं 33 वर्षीय पुजारा को मुस्कुराते हुए देखा गया। द्रविड़ के हावभाव से फैन बेहद प्रभावित हैं और उन्होंने उनकी प्रशंसा की।

वहीं अगर मैच के बारे में बात करें तो भारत ने पहले टॉस जीता और विराट कोहली ने बल्लेबाजी करने का फैसला किया। तेज गेंदबाजों के लिए मददगार पिच को देखते हुए, कई लोगों का मानना ​​​​था कि कोहली की फैसला सही नहीं थी। हालांकि, भारतीय सलामी बल्लेबाज केएल राहुल और मयंक अग्रवाल ने पहले विकेट के लिए 117 रन जोड़कर कोहली के फैसले को सही ठहराया।