राहुल द्रविड़ BCCI

राहुल द्रविड़ ने जीता सभी का दिल, अपने कोचिंग स्टाफ के लिए कर दिया 2.5 करोड़ कुर्बान

राहुल द्रविड़ के कार्यकाल में टीम इंडिया ने जीता था टी-20 वर्ल्ड कप का खिताब।

Rahul Dravid (Photo Source: Getty Images)
Rahul Dravid (Photo Source: Getty Images)

टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच राहुल द्रविड़ एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं। इस बार उन्होंने फिर से कुछ ऐसा काम किया है जिसे सुनकर आपके लिए उनका सम्मान और बढ़ जाएगा। द्रविड़ ने जो अब किया है इसे अब क्रिकेट जगत में मिसाल के तौर पर याद रखा जाएगा। आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2024 जीतने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया के लिए 125 करोड़ रुपये बोनस का ऐलान किया था।

हालांकि प्राइज मनी का ऐलान करते वक्त बीसीसीआई ने बता दिया था कि उन पैसों का बटवारा कैसे किया जाएगा। लेकिन जिस तरह से इस बोनस का बंटवारा किया गया, वो शायद द्रविड़ को वह पसंद नहीं आया। हेड कोच होने के नाते द्रविड़ को पांच करोड़ रुपये इसमें से दिए गए, जबकि टीम के बाकी कोचों को 2.5 करोड़ रुपये दिए गए। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक द्रविड़ ने बीसीसीआई से कहा है कि उन्हें भी बोनस 2.5 करोड़ रुपये दिया जाए।

राहुल द्रविड़ ने BCCI के सामने रखी ख़ास डिमांड

द्रविड़ चाहते हैं कि बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग कोच की तरह उन्हें भी 2.5 करोड़ रुपये ही दिए जाए। बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा कि, ‘राहुल द्रविड़ अपने बाकी सहायक कोचों जैसे 2.5 करोड़ रुपये का ही बोनस चाहते हैं। हम उनकी भावना का सम्मान करते हैं।’ 2018 में टीम इंडिया ने अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता था और उस समय उस टीम के भी हेड कोच राहुल द्रविड़ ही थे, तब भी उन्होंने ऐसा ही कुछ किया था।

उस वक्त द्रविड़ को हेड कोच होने के नाते 50 लाख रुपये मिले थे, जबकि बाकी सपोर्ट स्टाफ को 20 लाख रुपये दिए गए थे, और सभी खिलाड़ियों को 30 लाख रुपये दिए गए थे। द्रविड़ ने इसको लेकर ऐतराज जताया था और बीसीसीआई को फिर सभी को बराबर पैसे देने पड़े थे। बीसीसीआई ने तब कैश रिवार्ड को अपडेट करते हुए द्रविड़ समेत सभी सपोर्ट स्टाफ को 25-25 लाख रुपये दिए थे। द्रविड़ ने एक बार फिर ऐसा ही किया है।

आपको बता दें कि, 29 जून को टीम इंडिया ने आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2024 के फाइनल मैच में साउथ अफ्रीका को सात रनों से हराकर दूसरी बार खिताब अपने नाम किया था। भारतीय टीम 4 जुलाई को स्वदेश लौटी थी, जहां मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सम्मान समारोह के दौरान बीसीसीआई ने टीम इंडिया को 125 करोड़ रुपये का चेक सौंपा था।

close whatsapp