इस खास वजह के चलते रवींद्र जडेजा ने अपनी टेस्ट जर्सी इंग्लैंड के पूर्व कप्तान को गिफ्ट में दी - क्रिकट्रैकर हिंदी

इस खास वजह के चलते रवींद्र जडेजा ने अपनी टेस्ट जर्सी इंग्लैंड के पूर्व कप्तान को गिफ्ट में दी

जडेजा इस समय इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम के सदस्य हैं।

Michael Vaughan. (Photo Source: Instagram and Getty Images)
Michael Vaughan. (Photo Source: Instagram and Getty Images)

भारतीय टीम को भले ही इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा अभी तक इस दौरे पर सबसे ज्यादा चर्चा में रहे हैं। अब जडेजा ने इंग्लैंड टीम के पूर्व कप्तान माइकल वॉन को अपनी टेस्ट जर्सी गिफ्ट की है, जिसमें इस दौरे पर मौजूद सभी भारतीय टीम के सदस्यों के हस्ताक्षर भी हैं।

दरअसल, जडेजा ने अपनी टेस्ट जर्सी को चैरिटी को लेकर वॉन को गिफ्ट की है, जिसकी जानकारी खुद माइकल वॉन ने इंस्टाग्राम पर अपने अकाउंट में स्टोरी पोस्ट करते हुए दी। रवींद्र जडेजा इस समय भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड के दौरे पर मौजूद हैं, जिसमें दोनों टीमों के बीच खेली जा रही 5 मैचों की टेस्ट सीरीज इस समय 1-1 से बराबर है।

जडेजा सीरीज के शुरुआती तीनों टेस्ट मैचों में टीम का हिस्सा थे, लेकिन चौथे टेस्ट मैच में उनके खेलने पर सस्पेंस बना हुआ है। दरअसल, तीसरे टेस्ट मैच के दौरान फील्डिंग के समय जडेजा के घुटने में चोट लग गई थी और मैच खत्म होने के बाद वह स्कैन कराने अस्पताल गए थे। वहीं, दोनों ही टीमों के बीच सीरीज का चौथा टेस्ट मैच लंदन के ओवल मैदान पर 2 सितंबर से खेला जाएगा।

निचले क्रम के बल्लेबाज आपको हर समय नहीं बचा सकते

तीसरे टेस्ट मैच के दौरान एक समय जडेजा जब टीम की दूसरी पारी में बल्लेबाजी कर रहे थे, तो वह काफी तेजी से रन बनाने की कोशिश करते दिखाई दिए लेकिन दूसरे छोर से लगातार विकेटों का गिरना जारी था। जडेजा भी 25 गेंदों का सामना करने के बाद 30 रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

इसी पर भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली से मैच के बाद पूछा गया कि भारतीय टीम की बल्लेबाजी में गहराई काफी कम देखने को मिल रही है, तो उन्होंने कहा कि आप यह कह सकते हैं कि हमारी बल्लेबाजी में उतनी गहराई नहीं है, लेकिन हमारे ऊपरी क्रम के बल्लेबाजों ने उतना बेहतर प्रदर्शन भी नहीं किया जिससे निचले क्रम के बल्लेबाज भी अधिक योगदान देने में सक्षम हो सकें। वहीं, आपको हर समय निचले बल्लेबाज ऐसी स्थिति से नहीं निकाल सकते।