क्या यॉर्कशायर के नस्लवाद कांड से बचने के लिए अपनी राष्ट्रीयता बदलना चाहते हैं गैरी बैलेंस - क्रिकट्रैकर हिंदी

क्या यॉर्कशायर के नस्लवाद कांड से बचने के लिए अपनी राष्ट्रीयता बदलना चाहते हैं गैरी बैलेंस

अगर गैरी बैलेंस राष्ट्रीयता बदल लेते हैं, तो उन्हें यॉर्कशायर के साथ 2024 सीजन के अंत तक का अपना अनुबंध समाप्त करना होगा।

England’s Gary Ballance (Photo credit should read JEWEL SAMAD/AFP/Getty Images)
England’s Gary Ballance (Photo credit should read JEWEL SAMAD/AFP/Getty Images)

कई विदेशी क्रिकेटरों ने अन्य देशों का प्रतिनिधित्व करने के लिए अपना देश छोड़ने का विकल्प चुना है, जिसका कारण या तो उनका उस देश में पैदा होना, या क्रिकेट के क्षेत्र में पहले से ही सफल देशों के प्रति आकर्षण, या फिर बेहतर जीवन के लिए स्थायी रूप से वहां बस जाना रहा है।

इस सूची में केविन पीटरसन, जेसन रॉय, कॉलिन डी ग्रैंडहोम, मोइन अली, राशिद खान, बेन स्टोक्स और उस्मान ख्वाजा जैसे कुछ प्रसिद्ध नाम शामिल हैं। गैरी बैलेंस भी उन्ही से एक है, लेकिन अब वह कथित तौर पर इंग्लैंड के साथ अपने सभी संबंधों को समाप्त कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने देश जिम्बाब्वे का प्रतिनिधित्व करने के लिए स्वदेश लौटना चाहते हैं।

ECB की सजा से बचना चाहते हैं गैरी बैलेंस!

गैरी बैलेंस ने कथित तौर पर इंग्लैंड से जिम्बाब्वे ट्रांसफर के संबंध में अपनी कागजी कार्रवाई आईसीसी (ICC) को सौंपने की भी कोशिश की है। उन्होंने यह फैसला कुछ महीने पहले इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) द्वारा यॉर्कशायर नस्लवाद कांड में उनकी कथित भागीदारी का आरोप लगाने के कुछ ही महीनो पहले लिया है।

स्पोर्ट्समेल की रिपोर्ट के अनुसार, “गैरी बैलेंस जिम्बाब्वे के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर धमाकेदार वापसी के साथ इंग्लैंड को पीठ दिखा सकता है। इस साल की शुरुआत में इंग्लैंड से दक्षिण-पूर्वी अफ्रीकी राष्ट्र में राष्ट्रीयता बदलने बाबद कागजी कार्रवाई अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को प्रस्तुत की गई थी। यह कार्रवाई जून में ईसीबी द्वारा यॉर्कशायर नस्लवाद कांड में बैलेंस को घसीटे जाने से कुछ ही महीने पहले की गई थी। हालांकि, यह कागजी कार्रवाई बैलेंस द्वारा प्रस्तुत नहीं की गई थी।”

आपको बता दें, गैरी बैलेंस का जन्म और पालन-पोषण जिम्बाब्वे में हुआ था, और उन्होंने अंडर-19 स्तर पर अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए पांच मैच भी खेले। लेकिन साल 2006 में क्रिकेट के क्षेत्र में बेहतर भविष्य के लिए बैलेंस 16 साल की उम्र में इंग्लैंड चले गए और फिर वहीं अपना अंतरराष्ट्रीय करियर बनाया। उन्होंने इंग्लैंड के लिए सितंबर 2013 से जुलाई 2017 तक 23 टेस्ट और 16 वनडे मैच खेले।