28 जून 2022 को अपने करियर से जुड़ा एक बड़ा फैसला ले सकते हैं इयोन मॉर्गन - क्रिकट्रैकर हिंदी

28 जून 2022 को अपने करियर से जुड़ा एक बड़ा फैसला ले सकते हैं इयोन मॉर्गन

मॉर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड ने 2019 वर्ल्ड कप अपने नाम किया था।

Eoin Morgan
Eoin Morgan. (Photo by Philip Brown/Popperfoto/Popperfoto via Getty Images)

लगभग साढ़े सात साल तक इंग्लैंड की टीम का कार्यभार संभालने के बाद इयोन मॉर्गन मंगलवार (28 जून) की सुबह लिमिटेड ओवर्स फॉर्मेट में इंग्लैंड की कप्तानी छोड़ सकते हैं। मॉर्गन को 2014 में नियुक्त किया गया था और उसके बाद से उनकी कप्तानी में टीम ने कई सालों तक बेहतरीन प्रदर्शन किया। यहां तक कि इंग्लिश टीम उन्हीं की कप्तानी में साल 2019 में वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब रही थी।

इस बीच पिछले काफी समय से मॉर्गन का फॉर्म और फिटनेस उनके और टीम के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। वह अपने दाहिने पैर में नियमित रूप से मांसपेशियों की खिंचाव के कारण इस साल लगातार मैच खेलने में असमर्थ रहे हैं। नीदरलैंड के खिलाफ सीरीज में भी उनका प्रदर्शन निराशाजनक रहा, पहले दो मैचों में वह बिना खाता खोले ही आउट हो गए। वहीं आखिरी मैच चोटिल होने की वजह से नहीं खेल पाए।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास भी ले सकते हैं इयोन मॉर्गन

इस बीच ESPNCricinfo ने मंगलवार (28 जून) को इयोन मॉर्गन के इंग्लैंड के सफेद गेंद के कप्तान के रूप में पद छोड़ने की खबर की सूचना दी। वहीं The Guardian के एक रिपोर्ट के मुताबिक मॉर्गन अपने भविष्य पर विचार कर रहे हैं और वह मंगलवार को अपनी अंतरराष्ट्रीय सेवानिवृत्ति की घोषणा करने के लिए तैयार हैं। जोस बटलर, जिन्हें नियमित रूप से कप्तान के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है, वो ही पूर्णकालिक कप्तान के रूप में मॉर्गन की जगह ले सकते हैं।

कुछ समय पहले ही इयोन मोर्गन ने ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड की कप्तानी  करने की इच्छा जाहिर की थी। लेकिन उनके साथी मोइन अली ने खुलासा किया है कि बाएं हाथ के बल्लेबाज को लगता है कि उन्होंने उच्चतम स्तर पर काफी क्रिकेट खेल लिया है। हालांकि, ऑलराउंडर ने पिछले कुछ वर्षों में इंग्लैंड क्रिकेट में उनके योगदान के लिए मॉर्गन की प्रशंसा की और उन्हें एक अच्छा कप्तान भी बनाया।

मॉर्गन का हालिया फॉर्म है बेहद ही खराब

मॉर्गन 2019 और 2020 के दौरान अपने करियर के सबसे अच्छे फॉर्म में रहे थे लेकिन पिछले 18 महीनों में उनका प्रदर्शन काफी निराशानजक रहा है। उन्होंने 2021 की शुरुआत के बाद से लिमिटेड ओवर्स फॉर्मेट में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की 48 पारियों में एक अर्धशतक बनाया है और नीदरलैंड के खिलाफ दो पारियों में वो एक भी रन नहीं बना पाए थे।