रिकी पोंटिंग और एडम गिलक्रिस्ट ने आरोन फिंच को बताया कि कैसे ICC T20 विश्व कप खिताब को बचाया जा सकता है - क्रिकट्रैकर हिंदी

रिकी पोंटिंग और एडम गिलक्रिस्ट ने आरोन फिंच को बताया कि कैसे ICC T20 विश्व कप खिताब को बचाया जा सकता है

टी-20 विश्व कप 2022 में न्यूजीलैंड से हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया का नेट रन रेट -4.450 का है।

Ricky Ponting, Adam Gilchrist and Aaron Finch (Image Credit- Twitter)
Ricky Ponting, Adam Gilchrist and Aaron Finch (Image Credit- Twitter)

ऑस्ट्रेलिया के दो महान और विश्व कप विजेता खिलाड़ी रिकी पोंटिंग और एडम गिलक्रिस्ट ने अपनी राष्ट्रीय टीम को टी-20 विश्व कप खिताब की रक्षा की दौड़ में बने रहने के लिए ऑस्ट्रेलिया टीम को सलाह दी है।

बता दें कि 1999 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की स्थिति कुछ ऐसी ही थी जैसी अब टी-20 विश्व कप 2022 में ऑस्ट्रेलिया की है। 1999 में ऑस्ट्रेलिया अपने पहले तीन मैचों में से दो हार गई थी लेकिन उसके बाद टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए, 1999 विश्व कप जीता था।

बता दें कि ICC T20 विश्व कप 2022 में सुपर-12 के शुरुआती मैच में न्यूजीलैंड के हाथों आरोन फिंच की अगुवाई वाली टीम 89 रनों के अंतर से मैच हार गई थी, और आज 25 अक्तूबर को ऑस्ट्रेलिया का मस्ट विन मुकाबला श्रीलंका के साथ पर्थ में हो रहा है। लेकिन अब पोंटिंग और गिलक्रिस्ट, जो दोनों ऑस्ट्रेलिया के 1999 विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा थे, उन्होनें फिंच की अगुवाई वाली टीम को आगामी मैचों से पहले कुछ सुझाव दिए

रिकी पोंटिंग और एडम गिलक्रिस्ट ने दी अपनी राय

ऑस्ट्रेलिया की इस दिग्गज जोड़ी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के साथ एक इंटरव्यू में बात की और ऑस्ट्रेलिया को टी-20 विश्व कप खिताब बचाने को लेकर अपनी राय साझा की है। इस इंटरव्यू में गिलक्रिस्ट ने कहा यह आदर्श स्थिति नहीं है जिसमें ऑस्ट्रेलियाई खुद को पाते हैं, बहुत कुछ सोचने के लिए, उस शुरुआती प्रदर्शन पर विचार करने के लिए बहुत कुछ है, और यहां जीवित रहने के लिए हर कीमत पर जीत जरुरी है।

गिलक्रिस्ट ने आगे कहा कि ईमानदारी से, मुझे लगता है कि यह महत्वपूर्ण बात है, यह सुनिश्चित करना कि यदि कोई छोटे से ऑफ-फील्ड मुद्दे हैं, जिनमें से कुछ ऑस्ट्रेलियाई के लिए हैं, तो उन्हें पहचानने और काम करने के लिए थोड़ा सा समय चाहिए और शायद यह उन्हें बिल्कुल भी प्रभावित नहीं कर रहा है, लेकिन उन्हें बस यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि उनके पास स्पष्ट खिलाड़ी हैं क्योंकि वे अगले गेम में आगे बढ़ते हैं।

वहीं जब पोंटिंग से पूछा गया कि ऑस्ट्रेलिया श्रीलंका के खिलाफ पर्थ स्टेडियम में अपनी योजनाओं को कैसे अंजाम देगा, तो उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाजी को उछाल वाली परिस्थितियों का अधिकतम लाभ उठाने और शॉर्ट गेंद का अच्छे से उपयोग करने की आवश्यकता होगी।

पोंटिंग ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि यह कहना उचित है कि श्रीलंका शायद वहां शॉर्ट-पिच गेंदों की उम्मीद कर सकते हैं, वहां एक बहुत ही जीवंत विकेट है, हम जानते हैं कि वहां जैसा उछाल शायद दुनिया में कहीं नहीं है। अगर आप WACA के लिए सड़क पार करते हैं, यह 50 या 60 वर्षों से ऐसी ही है।

इसके अलावा पोंटिंग ने कहा कि मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, जोश हेज़लवुड, मार्कस स्टोइनिस, मिशेल मार्श और कैमरून ग्रीन के साथ इस टूर्नामेंट के माध्यम से मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलिया की शाॅट बाॅल रणनीति होगी। मुझे लगता है कि आप देखेंगे कि वे सभी लोग शॉर्ट गेंदों के अपने कोटे का बहुत अधिक उपयोग करते हैं।