रिकी पोंटिंग ने हिलाई जो रूट की दुनिया, पूछा- आप किस बात के कप्तान हो - क्रिकट्रैकर हिंदी

रिकी पोंटिंग ने हिलाई जो रूट की दुनिया, पूछा- आप किस बात के कप्तान हो

इंग्लैंड की टीम 2010-11 के बाद ऑस्ट्रेलिया में एक भी टेस्ट नहीं जीत सकी है।

Ricky Ponting
Ricky Ponting. (Photo by Daniel Pockett/Getty Images)

जो रूट की अगुवाई वाली इंग्लैंड की टीम फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेल रही है। खेले गए दो मैचों में रूट एंड कंपनी का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा है। इंग्लिश टीम को पहले टेस्ट में 9 विकेट से जबकि दूसरे टेस्ट में 275 रन से हार का सामना करना पड़ा।

दूसरे टेस्ट में हार के बाद इंग्लैंड के कप्तान रूट ने अपने गेंदबाजों की कड़ी आलोचना की। रूट ने कहा कि हमने सही लेंथ से गेंदबाजी नहीं की, हमें फुल लेंथ में गेंदबाजी करने की जरूरत थी। जैसा की ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में हमने किया। हमें पहली पारी में भी ऐसा करना चाहिए था पर हमारे खिलाड़ियों से इस जगह पर चूक हुई।

रूट द्वारा इंग्लिश गेंदबाजों की आलोचना करने पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान रिकी पोंटिंग ने नाराजगी जताई है। अपने गेंदबाजों की आलोचना करने के लिए पोंटिंग ने रूट की जमकर आलोचना की है। cricket.com.au से बातचीत करने के दौरान रिकी पोंटिंग ने इस पुरे मुद्दे पर अपनी राय रखी।

रूट की कप्तानी को लेकर रिकी पोंटिंग ने क्या कहा ?

उन्होंने कहा कि, “मैंने जैसे ही यह सुना तो मैं अपनी सीट से लगभग गिर ही गया था। अगर गेंदबाज सही गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं तो उन्हें बदलने का काम किसका है? फिर आप कप्तान ही क्यों हो? यदि आप अपने गेंदबाजों को नहीं समझा सकते कि किस लेंथ पर गेंदबाजी करनी है तो आप मैदान पर क्या कर रहे हैं?

पोंटिंग ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि, “जो रूट वापस आकर कुछ जो चाहें कह सकते हैं।, लेकिन अगर आप कप्तान हैं तो आपको यह समझने में सक्षम होना चाहिए कि आपके गेंदबाज उस जगह पर गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं जहां आप चाहते हैं। इसी को कप्तानी कहते हैं।”

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच तीसरा एशेज टेस्ट 26 दिसंबर से मेलबर्न में शुरू होगा। बता दें कि इंग्लैंड की टीम 2010-11 के बाद ऑस्ट्रेलिया में एक भी टेस्ट नहीं जीत सकी है। इंग्लिश टीम को यहां पिछली दो सीरीज में 5-0 और 4-0 से हार का सामना करना पड़ा। इस बीच रूट ने कहा कि, “मुझे यकीन है कि हम यहां टेस्ट जीत सकते हैं और आने वाले मैचों में हम उसी इरादे के साथ उतरेंगे।”