2021 में छह शतक लगाने के बावजूद पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने निकाली जो रूट की बल्लेबाजी में कमी - क्रिकट्रैकर हिंदी

2021 में छह शतक लगाने के बावजूद पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने निकाली जो रूट की बल्लेबाजी में कमी

जो रूट ने एशेज सीरीज की पिछले दो परियों में लगातार दो अर्धशतक लगाए हैं।

Joe Root. (Photo by Stu Forster/Getty Images)
Joe Root. (Photo by Stu Forster/Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने कहा कि जो रूट अपनी बल्लेबाजी में सुधार के लिए स्टीव स्मिथ और मार्नस लाबुशेन से सीख ले सकते हैं। हालांकि इंग्लैंड मौजूदा एशेज में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए काफी मेहनत कर रहा है, लेकिन इस बीच रूट ने अपने शानदार प्रदर्शन से अपनी टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाने की कोशिश की है।

ब्रिस्बेन टेस्ट की पहली पारी में शून्य पर आउट होने के बाद रूट ने लगातार दो परियों में अर्धशतक जरूर लगाया है लेकिन उस अर्धशतकीय पारी को वह बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके। इस बीच ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने एशेज सीरीज में जो रूट की बल्लेबाजी पर सवाल उठाए हैं। पोंटिंग ने कहा है कि रूट के अंदर एक्रागता की कमी है और इस चीज को वो ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और मार्नस लाबुशेन से सीख सकते हैं।

रिकी पोंटिंग ने बताया कैसे जो रूट अपनी बल्लेबाजी में सुधार ला सकते हैं

cricket.com.au से बातचीत के दौरान रिकी पोंटिंग ने कहा कि, “ये एक मानसिक समस्या है। पिछले दो मुकाबलों में वो जिस तरह से आउट हुए हैं उसमें तकनीकी तौर पर कोई दिक्कत नहीं है, जिसकी वजह से उन्हें आउट होना पड़ा हो। जिस गेंद पर वो आउट हुए उस दौरान वो पूरी तरह से सजग नहीं थे और उनकी एकाग्रता भंग हुई। मार्नस लाबुशेन और स्मिथ इस बात का सबसे बड़ा उदाहरण हैं कि अपने आपको कैसे लंबे समय तक एक्रागचित रखा जाता है।”

उन्होंने आगे कहा कि, “बल्लेबाजी करने से पहले उन्होंने दिन का एक से तीन चौथाई दिन मैदान में बिताया। मुझे पता है कि यह टेस्ट क्रिकेट है और हर कोई पहले भी रहा है, लेकिन संभवत: जब आप दो दिन फील्डिंग करके मैदान पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरते हैं तो फिर गलती करने की संभावना भी अधिक बढ़ जाती है।”

रूट काफी सालों से इंग्लैंड के टेस्ट बल्लेबाजी क्रम के मुख्य आधार रहे हैं। वर्तमान में, ऑस्ट्रेलियाई धरती पर वह अपना 11 वां टेस्ट खेल रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया में दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 89 के व्यक्तिगत सर्वाधिक स्कोर के साथ 40.05 के औसत से 721 रन बनाए हैं।