बंगाल रणजी टीम के सात सदस्य आए कोरोना वायरस की चपेट में - क्रिकट्रैकर हिंदी

बंगाल रणजी टीम के सात सदस्य आए कोरोना वायरस की चपेट में

सभी व्यक्ति रविवार को हुए इंट्रा-स्क्वाड वार्म-अप मैच का हिस्सा थे।

Bengal Ranji Team. (Photo Source: Twitter)
Bengal Ranji Team. (Photo Source: Twitter)

भारत में एक बार फिर कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी होते हुए देखा जा सकता है। दक्षिण अफ्रीका से शुरू हुए ओमीक्रॉन वैरिएंट के मामलों में भी देश में इजाफा हो रहा है जिससे तीसरी लहर का खतरा मंडराने लगा है। कोविड-19 संक्रमण फिर से बढ़ने के बाद क्रिकेट पर भी इसका असर दिखने लगा है जिसमें खिलाड़ी इसकी चपेट में आ रहे हैं। इसका ताजा मामला बंगाल रणजी टीम में देखा जा सकता है।

बंगाल रणजी टीम के सात सदस्य हुए कोरोना संक्रमित

रणजी ट्रॉफी के आगामी सत्र से पहले बंगाल की टीम पर कोरोना वायरस ने आक्रमण कर दिया है। टीम के छह खिलाड़ी और एक स्पोर्ट स्टाफ का सदस्य कोविड-19 की चपेट में आ गए हैं। इन छह खिलाड़ियों में सुरजीत यादव, सुदीप चटर्जी, अनुस्तुप मजूमदार, गीत पुरी, प्रदीप्ता प्रमाणिक और काजी जुनैद सैफई हैं। वहीं, स्पोर्ट स्टाफ में से पूर्व खिलाड़ी सौराशीष लाहिड़ी का भी आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। ये सभी लोग इस समय आइसोलेशन में हैं।

सभी व्यक्ति 2 जनवरी को साल्ट लेक में जादवपुर यूनिवर्सिटी के कैंपस ग्राउंड पर हुए इंट्रा-स्क्वाड अभ्यास मैच का हिस्सा थे। बंगाल की टीम रणजी ट्रॉफी में अपने अभियान की शुरुआत 13 जनवरी से त्रिपुरा के खिलाफ करेगी। उसे हरियाणा, केरल, राजस्थान, त्रिपुरा और विदर्भ के साथ एक ग्रुप में रखा गया है। वहीं, आगामी रणजी ट्रॉफी सत्र से पहले बंगाल को मुंबई के खिलाफ एक अभ्यास मैच खेलना है।

बंगाल खिलाड़ियों के संक्रमित पाए जाने पर सीएबी करेगी कार्रवाई

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल (सीएबी) अध्यक्ष स्नेहाशीष गांगुली ने बंगाल रणजी टीम के सदस्यों के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा, “मौजूदा परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए सीएबी ने सुरक्षात्मक दृष्टि से सभी बंगाल खिलाड़ियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाया। इसके नतीजे आ गए हैं जिसमें कुछ लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। सीएबी इस संबंध में सभी आवश्यक सावधानी बरत रहा है और कार्रवाई कर रहा है।”

वहीं, सीनियर टीम में कोविड के मामले सामने आने के बाद एसोसिएशन ने मंगलवार 4 जनवरी को एक आपात बैठक आयोजित करने का फैसला किया है। इसी के साथ उन्होंने कई स्थानीय टूर्नामेंटों पर भी रोक लगा दी है। सीएबी 15-18 आयु वर्ग में आने वाले पंजीकृत खिलाड़ियों का टीकाकरण करने के लिए भी तत्काल कदम उठा रहा है।