शेन वॉर्न और गिलक्रिस्ट ने कोहली-स्टंप माइक विवाद पर दी प्रतिक्रिया, विराट को बताया सही - क्रिकट्रैकर हिंदी

शेन वॉर्न और गिलक्रिस्ट ने कोहली-स्टंप माइक विवाद पर दी प्रतिक्रिया, विराट को बताया सही

डीन एल्गर के एक DRS को लेकर खड़ा हुआ था पूरा विवाद।

Virat Kohli, Adam Gilchrist and Shane Warne. (Photo Source: Disney+Hotstar and Getty Images)
Virat Kohli, Adam Gilchrist and Shane Warne. (Photo Source: Disney+Hotstar and Getty Images)

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच हाल ही में समाप्त हुई सीरीज के दौरान विराट कोहली की टिप्पणियों से ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज एडम गिलक्रिस्ट और शेन वार्न खुश नहीं दिख रहे हैं। दरअसल टेस्ट मैच के दूसरे दिन डीन एल्गर के DRS विवाद ने कई दिग्गजों को हैरानी में दाल दिया था। उस हैरानी भरी DRS को देखने के बाद भारतीय कप्तान ने मेजबान ब्रॉडकास्टर पर निशाना साधते हुए स्टंप माइक के जरिए निराशा जाहिर की।

इस घटना को देखने के बाद पूरा क्रिकेट जगत इस पर प्रतिक्रिया देता हुआ दिखा। इंग्लैंड के माइकल वॉन, दक्षिण अफ्रीका के डेरिल कलिनन सभी चाहते थे कि कोहली की इस हरकतों के लिए गंभीर कार्रवाई की जाए। बता दें कि जिस गेंद पर DRS लिया गया था वह एल्गर के पैड के निचले हिस्से पर लगी थी, सभी ने यही सोचा था कि गेंद सीधे स्टंप पर जाकर लगेगी। लेकिन हॉक-आई के फैसले ने अंपायर मरे इरास्मस सहित सभी को हैरान कर दिया।

यह पूरी घटना पूर्वनियोजित लगती है- एडम गिलक्रिस्ट

अब पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शेन वॉर्न और एडम गिलक्रिस्ट ने भी मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज गिलक्रिस्ट ने कहा कि भारतीय कप्तान की निराशा लगातार बढ़ रही थी और जब ये सब कुछ हुआ तो वह इससे खुश नहीं थे और निराश होकर उन्होंने ऐसा कुछ किया।

Fox Cricket से बातचीत बातचीत के दौरान गिलक्रिस्ट ने कहा कि, “मैं जिस आरोप में दिलचस्पी रखता हूं वो ये कि ये सब पहले से प्लान किया लगता है। ये काफी समय से हो रहा था और फिर उस दिन ये एक ब्रेकिंग प्वाइंट पर पहुंच गया है। गेंद को चमकाने वाली टीमों को कैमरा पर दिखाने के आरोप को मैं मान रहा हूं, ये सभी उस मामले की तरफ वापस जाता है जब ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरे पर पकड़े गए थे।”

वहीं इस पूरे मुद्दे पर शेन वॉर्न का दृष्टिकोण अलग था क्योंकि उन्होंने स्वीकार किया कि गेंद स्टंप्स पर जाकर लगने वाली थी। वॉर्न ने कहा कि, “देखो ये एक दिलचस्प मामला है, मुझे यकीन नहीं है कि एक अंतरराष्ट्रीय टीम के कप्तान को ऐसा करना चाहिए। लेकिन कभी-कभी निराशा बढ़ जाती है। इसलिए मैंने कहा कि मुझे आश्चर्य है कि क्या इस सीरीज में ऐसा तीन या चार बार हुआ है और फिर उन्हें लगा कि बहुत हो गया, अब ऐसा और नहीं हो सकता।”