सौरव गांगुली कोच पद के लिए राहुल द्रविड़ के पीछे ही पड़ गए थे - क्रिकट्रैकर हिंदी

सौरव गांगुली कोच पद के लिए राहुल द्रविड़ के पीछे ही पड़ गए थे

पूरा BCCI द्रविड़ को टीम का कोच बनते देखना चाहता था-सौरव गांगुली।

Sourav Ganguly and Rahul Dravid
Rahul Dravid and Sourav Ganguly. (Photo by Gareth Copley/Getty Images)

रवि शास्त्री के बाद टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ बने है, लेकिन द्रविड़ को इस पद पर लाना बोर्ड के लिए काफी मुश्किल काम था। जिसका खुलासा खुद BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने किया है, वहीं अब दादा के इस बयान ने काफी सुर्खियां बटोरने का काम भी किया है। द्रविड़ से पहले कई पूर्व विदेशी खिलाड़ियों का नाम सामने आया था, जो टीम इंडिया के कोच बनने की रेस में थे।

गांगुली का खुलासा, द्रविड़ मुश्किल से कोच बनने के लिए हुए थे राजी

टीम इंडिया के कोच बनने से पहले राहुल द्रविड़ NCA के प्रमुख थे, जहां वो युवा खिलाड़ियों के साथ काम कर रहे थे और NCA में रहना चाहते थे। लेकिन BCCI द्रविड़ को टीम इंडिया का मुख्य कोच बनाना चाहता था, लेकिन वो बार-बार इसे टाल रहे थे। प्रमुख कोच बनने से पहले द्रविड़ टीम इंडिया के साथ एक बार लंका दौरे पर भी बतौर कोच बनकर गए थे और इस दौरे पर कप्तान शिखर धवन थे, जब से ही द वॉल को कोच बनाने की मांग तेज हो गई थी।

*पूरा BCCI द्रविड़ को टीम का कोच बनते देखना चाहता था-सौरव गांगुली।
*सौरव गांगुली के मुताबिक द्रविड़ को कोच पद के लिए मनाना आसान नहीं था।
*एक समय पर आ कर हम सब थक गए थे और उम्मीद छोड़ दी थी-गांगुली।
*टीम इंडिया के खिलाड़ी भी द्रविड़ को कोच के तौर पर चाहते थे- सौरव।

द्रविड़ की कोचिंग का शानदार आगाज

वहीं टीम इंडिया के नए कोच यानी की राहुल द्रविड़ की कोचिंग का शानदार आगाज हुआ है, जहां उनकी कोचिंग में टीम इंडिया ने पहले न्यूजीलैंड को टी-20 सीरीज में हराया। उसके बाद विराट के साथ मिलकर टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज भी जीती, टीम ने कीवी टीम को मुंबई टेस्ट में लंबे अंतर से मात दी और सीरीज 1-0 से अपने नाम कर ली। वहीं मैच के बाद द्रविड़ ने कहा की अभी भी कई जगह टीम में सुधार की जरूरत है।