in

एक दशक बाद फिर दक्षिण अफ्रीका में हो सकता आईपीएल

2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के कारण लिया जा सकता है ये बड़ा फैसला

IPL trophy
IPL trophy. (Photo Source: Twitter)

साल 2019 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की मेजबानी भारत से बाहर हो सकती हैं। आईपीएल में इस बदलाव का कारण साल 2019 में होने वाले आम चुनाव बताये जा रहे है,जिसके मद्देनज़र एक दशक बाद आईपीएल एक बार दक्षिण अफ्रीका में शिफ्ट किया जा सकता है।

अभी इस बात की पूष्टी नहीं हुई है। हालांकि बीसीसीआई इसके लिए पहले से तैयार रहना चाहता है। अगर आम चुनाव मई या अप्रैल 2019 में हुए तो आईपीएल का आयोजन भारत से बाहर करना लगभग तय माना जा रहा है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के अनुसार इस स्तिथि में बीसीसीआई के पास भारत से बाहर आईपीएल के आयोजन को लेकर दक्षिण अफ्रीका सबसे पहली पसंद होगा। दक्षिण अफ्रीका के आलावा युएई भी विकल्प है। आईपीएल 2009 में आईपीएल का सफ़ल आयोजन दक्षिण अफ्रीका में किया जा चुका है, जबकि वर्ष 2014 में आईपीएल के कुछ मैच युएई में आयोजित किए गए थे।

दक्षिण अफ्रीका के टाइम्स ऑफ़ इंडिया सूत्र के अनुसार, “दक्षिण अफ्रीका में एकमात्र खेल का बड़ा इवेंट फीफा विश्व कप है। यहाँ तक ​​कि आईपीएल 2009 की अपेक्षा आईसीसी विश्वकप 2003 भी फीका पड़ गया था।”

आईपीएल 2019 की मेजबानी को लेकर बीसीसीआई अभी से परेशानी में

आईसीसी विश्वकप 2019 का आयोजन 30 मई से इंग्लैंड में खेला जायेगा। बीसीसीआई द्वारा गठित की गई लोढ़ा समिति की सिफ़ारिशों के मुताबिक आईपीएल और वर्ल्डकप के बीच 15 दिनों का अंतर होना अनिवार्य है। हालांकि आईसीसी के नियमों के अनुसार विश्वकप में हिस्सा लेने वाले देशों को 2 हफ्ते पहले इंग्लैंड पहुँचना है। इसके कारण बीसीसीआई को आईपीएल 15-20 दिनों पहले शुरू करना होगा। इस तरह की स्तिथि में बोर्ड पूरे आईपीएल की जगह कुछ मैच भारत के बाहर आयोजित कर सकता है, ऐसे में युएई सबसे अच्छा विकल्प होगा। आईपीएल 2019 15-20 मार्च से शुरू किया जा सकता है। इस पर अंतिम फ़ैसला बीसीसीआई को लेना है, अब यह देखना अहम होगा कि बीसीसीआई इस कठिन परिस्थति का क्या हल निकालती है।

Vernon Philander

दक्षिण अफ्रीका की टीम ने पहले टेस्ट में विराट कोहली की सेना को किया चित्त

South African team

हार – जीत तो लगी रहती है लेकिन पिकनिक का मजा आना चाहिए कुछ इस तरह से फैन्स ने व्यक्त की अपनी प्रतिक्रिया पहले टेस्ट मैच में भारत की हार पर