दक्षिण अफ्रीका बनाम भारत तीसरे टेस्ट के पहले दिन गिरे कुल 11 विकेट भारतीय टीम को भी तेज गेंदबाजों से उम्मीद - क्रिकट्रैकर हिंदी

दक्षिण अफ्रीका बनाम भारत तीसरे टेस्ट के पहले दिन गिरे कुल 11 विकेट भारतीय टीम को भी तेज गेंदबाजों से उम्मीद

Cheteshwar Pujara
Cheteshwar Pujara. (Photo Source: Twitter)

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच खेली जा रही तीन टेस्ट मैच की फ्रीडम सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 24 जनवरी से जोहान्सबर्ग के वांडर्स मैदान में खेला जा रहा है जिसके पहले दिन का खेल जब खत्म हुआ तो भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी में 187 रन बनाकर आलआउट हो गयीं थी तो दक्षिण अफ्रीका की टीम ने अपनी पहली पारी में 6 रन पर 1 विकेट के नुकसान पर बना लिए थे.

पहले सेशन में पुजारा और कोहली ने संभाला

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस तीसरे टेस्ट मैच में पहली बार सीरीज में टॉस जीता और बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया जिसके बाद भारतीय टीम के ओपनिंग बल्लेबाजों ने एक बार फिर से निराश करते हुए टीम को एक अच्छी ओपनिंग नहीं दे सके और सिर्फ 13 रन पर दोनों खिलाड़ी पवेलियन लौट गयें. इसके बाद कप्तान कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने टीम को इस ग्रीन टॉप विकेट पर सँभालने का काम किया. पुजारा ने इस टेस्ट मैच में अपना पहला रन बनाने के लिए 54 गेंदों का सफर तय करना पडा था. इसके बाद जब पहले सेशन का खेल खत्म हुआ तो भारतीय टीम 45 रन 2 विकेट के नुकसान पर बना चुकी थी.

दूसरा सेशन पुजारा का साथ नहीं दे सका

तीसरे टेस्ट मैच का दूसरा सेशन जब शुरू हुआ तो भारतीय टीम के दोनों बल्लेबाजों ने सकारात्मक खेलना शुरू किया और कप्तान कोहली ने अपने टेस्ट करियर का 16 वां अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके थोड़ी देर बाद ही उन्हें एक बार फिर से लुंगी ने अपना शिकार बना लिया और कोहली 54 रन बनाकर आउट हो गयें इसके बाद इस टेस्ट सीरीज में पहली बार खेल रहे उपकप्तान आजिंक्य रहाणे बल्लेबाजी करने के लिए आयें लेकिन वे भी अधिक देर तक टिक नहीं सके और सिर्फ 9 रन बनाकर मोर्कल का शिकार हो गयें. जिस समय दूसरे सेशन का खेल खत्म हुआ भारतीय टीम का स्कोर 114 रन पर 4 विकेट हो गया था.

तीसरा सेशन भारतीय टीम आलआउट

इस तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन ऐसा लग रहा था कि चेतेश्वर पुजारा कोई बड़ी पारी खेलने का मन बनाकर उतरे है लेकिन वे अपने 50 रन बनाते ही आउट हो गये जिसके बाद भारतीय टीम को आलआउट होने में अधिक समय नहीं लगा सिर्फ भुवनेश्वर कुमार ही निचले क्रम में 30 रन का योगदान दे सके जिस कारण भारतीय टीम अपनी पारी में 187 रन बना सकी. इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका टीम की भी शुरुआत अच्छी नहीं रही और 3 रन के स्कोर पर उन्हें अपना पहला विकेट एडिन मार्कराम के रूप में खोना पड़ा. जिस समय पहले दिन का खेल खत्म हुआ तब तक दक्षिण अफ्रीका की टीम 6 रन 1 विकेट के नुकसान पर बना चुकी थी.