आखिर क्यों आईपीएल की मेजबानी करना चाहता हैं श्रीलंका? - क्रिकट्रैकर हिंदी

आखिर क्यों आईपीएल की मेजबानी करना चाहता हैं श्रीलंका?

मोहन डी सिल्वा ने कहा कि वो जल्द ही सौरव गांगुली के नेतृत्व वाले बीसीसीआई के साथ बातचीत करेंगे।

IPL Trophy. (Photo Source: IPL/BCCI)
IPL Trophy. (Photo Source: IPL/BCCI)

श्रीलंका क्रिकेट (SLC) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 2022 संस्करण की मेजबानी करने की इच्छा जाहिर की है। भारत इस समय COVID-19 की तीसरी लहार की चपेट में है और मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसलिए, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने हालात को देखते हुए दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका को बैकअप मेजबान के रूप में रखा है।

जहां आईपीएल 2020 की संपूर्णता संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में हुई, वहीं इस देश ने पिछले संस्करण के एक हिस्से की मेजबानी की। लेकिन सूत्रों के अनुसार, भारतीय बोर्ड कैश-रिच टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए पूरी तरह से यूएई पर निर्भर नहीं रहना चाहता है इसलिए वो इन देशों को भो बैकअप के तौर पर रखना चाहता है।

हमें श्रीलंका में आईपीएल की मेजबानी करने में खुशी होगी- मोहन डी सिल्वा

इस बीच, SLC ने बहुत उत्सुकता दिखाई है और सौरव गांगुली के नेतृत्व वाले BCCI के साथ बातचीत शुरू करने की भी बात की है। एसएलसी के सचिव मोहन डी सिल्वा ने क्रिकबज से हवाले से कहा कि, “हमने रिपोर्ट देखी है और हमें श्रीलंका में आईपीएल की मेजबानी करने में खुशी होगी। हम इस बारे में जल्द ही बीसीसीआई के साथ बातचीत शुरू करेंगे।”  सिल्वा ने महामारी के दौरान श्रीलंका की स्थिति के बारे में भी सकारात्मक बात की।

एसएलसी सचिव ने कहा, “श्रीलंका में यहां कोविड की स्थिति खराब नहीं है और आप आश्वस्त हो सकते हैं कि हम बहुत गर्मजोशी से मेजबानी करेंगे।” महामारी के कारण चल रहे घरेलू सत्र के रुकने के बाद बीसीसीआई पहले से ही काफी चिंता में है। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आगे बढ़ी।

लेकिन आगामी रणजी ट्रॉफी को स्थगित करना पड़ा और कूच बिहार U-19 ट्रॉफी को भी बीच में ही रोकना पड़ा। बीसीसीआई के पास आईपीएल 2022 की मेजबानी की चुनौती भी है, इस बात को ध्यान में रखते हुए कि अहमदाबाद और गुजरात से दो अतिरिक्त टीमों को जोड़ा गया है। नई फ्रेंचाइजी को तीन खिलाड़ी चुनने की प्रक्रिया पूरी करने के लिए 22 जनवरी की समय सीमा भी दी गई है।