एशेज सीरीज में इंग्लैंड के प्रदर्शन को लेकर स्टीव हार्मिसन ने दिया हैरान करने वाला बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

एशेज सीरीज में इंग्लैंड के प्रदर्शन को लेकर स्टीव हार्मिसन ने दिया हैरान करने वाला बयान

बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को एक पारी और 14 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

Steve Harmison (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)
Steve Harmison (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)

मौजूदा एशेज सीरीज में इंग्लैंड टीम का लचर प्रदर्शन अभी भी जारी है। ब्रिस्बेन और एडिलेड के बाद इंग्लैंड को मेलबर्न टेस्ट में भी हार का सामना करना पड़ा जिससे ऑस्ट्रेलिया को पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त मिल गई। मेजबान टीम को टेस्ट मैच जीतने में तीन दिन से भी कम का समय लगा। इंग्लैंड के इस निराशाजनक प्रदर्शन को लेकर पूर्व तेज गेंदबाज स्टीव हार्मिसन ने बड़ा बयान दिया है।

हार्मिसन का मानना है कि टीमों के लिए अपनी पहली पारी में बड़े पैमाने पर स्कोर करना अनिवार्य है ताकि ऑस्ट्रेलिया को एक कड़ी टक्कर देने का मौका मिले। 43 वर्षीय हार्मिसन बॉक्सिंग डे टेस्ट में इंग्लैंड के प्रदर्शन से बहुत दुखी हुए और उसको लेकर उन्होंने अपनी निराशाजनक प्रतिक्रिया भी दी है।

एशेज सीरीज में इंग्लैंड के प्रदर्शन से नाखुश हैं स्टीव हार्मिसन

BT Sport के हवाले से स्टीव हार्मिसन ने कहा कि, “ऑस्ट्रेलिया में उन्ही टीमों ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है जिन्होंने टेस्ट मैच की पहली पारी में बड़े रन बनाए हैं। पिछले दिन, उन्होंने (ऑस्ट्रेलिया) शानदार गेंदबाजी की, लेकिन इंग्लैंड का यह प्रदर्शन शर्मनाक है, उन्होंने कोई लड़ाई नहीं दिखाया, जिसे देखकर मुझे काफी दुख हुआ।”

हार्मिसन ने आगे कहा कि, “आप कह सकते हैं कि ऑस्ट्रेलिया ने अच्छी गेंदबाजी की है, जो उन्होंने किया है। लेकिन एक पारी से हारना जब एक टीम केवल 267 रन बनाती है, तो यह आपको आपने आप में सब कुछ बताता है। इंग्लैंड ने कैच छोड़े, दो अंपायरिंग फैसले उनके खिलाफ रहे लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने उन फैसलों को अपने पक्ष में ले जाने के लिए मेहनत किया है।”

इसके अलावा, हार्मिसन को इस बात का भी डर था कि खराब प्रदर्शन कई इंग्लिश क्रिकेटरों के करियर को खतरे में डाल सकता है। चौथा टेस्ट बुधवार, 5 जनवरी से सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाना है। वहीं होबार्ट के बेलेरिव ओवल में 14 जनवरी से पांचवां और अंतिम टेस्ट मैच खेला जाएगा।