in , ,

अपनी सजा के खिलाफ स्टीव स्मिथ इस वजह से नहीं करेंगे अपील

कुछ दिन पहले इस बात की खबर आयीं थी कि ये तीनों ही खिलाड़ी इस सज़ा को सही नहीं

Steve Smith
An emotional Steve Smith is comforted by his father Peter as he fronts the media. (Photo by Brook Mitchell/Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया टीम का दक्षिण अफ्रीका का बेहद खराब दौरा अब खत्म हो चुका है जिसमे उन्हें आखिरी टेस्ट मैच में 492 रन की बड़ी हार का सामना करना पड़ा. ऑस्ट्रेलिया टीम की इस हार का सभी अंदाज़ा था क्योंकि उनके 2 सबसे अच्छे बल्लेबाज़ इस टीम में शामिल नहीं थे जिसमे पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर जिन्हें 1 साल का बैन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दिया बॉल टेम्परिंग मामले में. इसके अलावा कैमरून बेनक्रॉफ्ट को भी 9 महीने का बैन दिया गया है और अब इस बैन के खिलाफ स्टीव स्मिथ ने बहुत ही बड़ा निर्णय लिया है.

कुछ दिन पहले इस बात की खबर आयीं थी कि ये तीनों ही खिलाड़ी इस सज़ा को सही नहीं मानते है और इस सज़ा के खिलाफ अपील करने का विचार कर रहे है. इन सभी ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में इस गलती के लिए अपने फैन्स और देश के लोगों से माफ़ी मांगी लेकिन साथ इस बात को भी साफ़ कर दिया कि वह इस मामले में बैन के खिलाफ लीगल सलाह लेकर ही कुछ निर्णय लेंगे.

स्मिथ ने मानी गलती

स्टीव स्मिथ ने अपने उपर लगे सभी आरोप को मान लिया है साथ ही उन्हें इस मामले में मिली सजा को भी स्वीकार कर लिया कि वह इसके खिलाफ किसी भी तरह की कोई भी अपील नहीं करेंगे. स्मिथ ने सोशल मीडिया पर ट्विट करके अपनी बात को रखते हुए लिखा कि “मैं अब वो सबकुछ करने के लिए तैयार हूँ जिसके बाद मैं अपने देश के लिए दुबारा खेल सकूँ. लेकिन मैंने इस मामले में पहले भी कहा कि एक कप्तान होने के नाते मैं इस मामले की पूरी जिम्मेदारी अपने कंधो पर लेता हूँ मैं इस सजा के खिलाफ कोई भी अपील नहीं करने वाला हूँ. मैं क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के इस निर्णय को पूरी तरह से स्वीकार करता हूँ.”

इस ट्विट के जरिये स्मिथ ने इस बात का सन्देश सभी को देने का काम किया कि वह एक मजबूत खिलाड़ी के रूप में अगले साल वापसी करेंगे और पूरा क्रिकेट जगत स्मिथ के इस नयें रूप को देखेगा.

यहाँ पर देखिये स्टीव स्मिथ के ट्विट को

MS Dhoni

फैंस पर चढ़ गया आईपीएल खुमार, धोनी को दूध से नहलाया

Tom Moody & David Warner. (Photo Source: Twitter)

डेविड वार्नर के अपनी टीम सनराइजर्स हैदराबाद को दिए इस सन्देश से पता चलता है कि वह टीम को कितना याद कर रहे है