आखिर क्यों ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों को लेकर इस तरह का बयान दे रहे हैं स्टुअर्ट ब्रॉड? - क्रिकट्रैकर हिंदी

आखिर क्यों ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों को लेकर इस तरह का बयान दे रहे हैं स्टुअर्ट ब्रॉड?

अगस्त में भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान चोटिल हो गए थे स्टुअर्ट ब्रॉड।

Stuart Broad. (Photo by Martin Rickett/PA Images via Getty Images)
Stuart Broad. (Photo by Martin Rickett/PA Images via Getty Images)

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड आठ दिसंबर से ब्रिस्बेन के गाबा में शुरू होने वाली एशेज के साथ टेस्ट में वापसी करने के लिए बेहद उत्साहित हैं। ब्रॉड इस साल की शुरुआत में पटौदी ट्रॉफी 2021 के दूसरे टेस्ट से पहले अपनी पिंडली की चोट के बाद क्रिकेट से लंबे समय के लिए दूर हो गए थे।

35 वर्षीय स्टुअर्ट ब्रॉड ने स्वीकार किया कि ऑस्ट्रेलियाई दर्शक हमारे टीम के ऊपर दबाव बनाने की कोशिश करेगी। यह भी कहा कि यही कारण है कि टेस्ट सीरीज एक पहला मैच 8 ब्रिस्बेन के गाबा के मैदान पर खेला जा रहा है। गाबा के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को काफी समर्थन मिलता है।

एशेज सीरीज से पहले स्टुअर्ट ब्रॉड ने कही कुछ महत्वपूर्ण बातें

3 दिसंबर को रिपोर्टर से बातचीत करते हुए ब्रॉड ने कहा कि, “यह वही है जिसके लिए आप प्रशिक्षण लेते हैं, यही वह है जिसके लिए आप जीते हैं। गाबा में खेलना आपके लिए क्रिकेट के बेहतरीन अनुभवों में से एक है। यहां  खेलने से ठीक वैसा ही एहसास होता है जैसा दक्षिण अफ्रीका में द वांडरर्स में खेलने पर होता है।”

उन्होंने आगे कहा कि, “यहां ऑस्‍ट्रेलिया के ज्‍यादा समर्थक है। बार्मी आर्मी (इंग्‍लैंड फैंस) के बिना भी यहां ज्‍यादा घरेलू दर्शक हैं, लेकिन आपको इस अनुभव का आनंद उठाना होता है। अगर आप उस मैदान पर नहीं चल रहे हैं या उत्‍साहित नहीं हैं। स्‍टैंड्स की तरफ नहीं देख रहे हैं तो आप गलत गेम खेल रहे हैं।’

कोविड-19 महामारी के कारण इंग्लैंड की एशेज की तैयारी ठीक से नहीं हो पा रही थी और अब ब्रिस्बेन के मौसम ने भी इसमें अपनी भूमिका निभाई है, वास्तव में, इसी वजह से सीरीज का पहला मैच पूरी तरह से रद्द हो जाने के खतरे में है। हालांकि ब्रॉड को अभी भी लगता है कि उनकी टीम अच्छी स्थिति में है।

उन्होंने कहा, “मैं एशेज दौरों पर रहा हूं जहां हम बहुत अच्छी तरह से तैयार हैं, हमने तीन या चार प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं, और हम फिर हार गए। यकीनन, हम एशेज सीरीज में जाने वाली इंग्लैंड की सबसे ताजी टीम बनने जा रहे हैं। अगले कुछ महीनों में हमारे पास काफी ऊर्जा होगी और अगले कुछ महीनों में काफी उत्‍साह बढ़ेगा।”