टॉस की भूमिका पर सुनील गावस्कर ने दी अपनी राय, कहा ICC को एक समान मैदानी परिस्थितियां सुनिश्चित करना चाहिए - क्रिकट्रैकर हिंदी

टॉस की भूमिका पर सुनील गावस्कर ने दी अपनी राय, कहा ICC को एक समान मैदानी परिस्थितियां सुनिश्चित करना चाहिए

इस टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में 45 में से 29 मैच दूसरी बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है।

Sunil Gavaskar. (Photo Source: Twitter)
Sunil Gavaskar. (Photo Source: Twitter)

टी-20 वर्ल्ड कप 14 नवंबर को खत्म हुआ। इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 8 विकेट से मात दी और पहला टी-20 वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया। इसी बीच इस टूर्नामेंट से जुड़ा एक हैरान करने वाला आंकड़ा सामने आया है। आंकड़े के मुताबिक, टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान खेले गए 45 मैचों में 29 मैच बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है।

सभी 3 नॉकआउट मैच (2 सेमीफाइनल और फाइनल) में जीत लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम की हुई। इसी बीच भारतीय क्रिकेट के दिग्गज सुनील गावस्कर का मानना है कि ICC को इस तथ्य पर गौर करने की जरूरत है कि इतने सारे मैच लक्ष्य का पीछा करते हुए जीते गए। गावस्कर ने कहा कि टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल के परिणाम में ओस की कोई भूमिका नहीं थी, लेकिन इस तथ्य पर ध्यान देने की जरूरत है कि टूर्नामेंट में लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम को काफी फायदा हुआ था।

इंडिया टुडे से बातचीत करते हुए सुनील गावस्कर ने कहा कि, “कमेंटेटर कह रहे थे कि इस मैच में ओस की कोई भूमिका नहीं थी इसलिए मुझे नहीं लगता कि यह वास्तव में इस मैच में इतना चलन में आया था। लेकिन मुझे लगता है कि मुझे पिछले कुछ मैचों में ओस की भूमिका थी और इसपर गौर करने की जरूरत है। मुझे लगता है कि ICC के लिए यह कुछ ऐसा है कि वह सुनिश्चित करे कि दोनों टीमों के लिए एक समान खेल की परिस्थितियां हो।”

गावस्कर ने मिचल मार्श की भी पारी की तारीफ की

सुनील गावस्कर ने भी मिचल मार्श की पारी की प्रशंसा की और कहा कि दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने फाइनल में ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए एक बेहतरीन पारी खेली। गावस्कर ने साथ ही यह भी बोला कि कीवी टीम चाहती होगी कि वॉर्नर को भी वे आउट का पाते लेकिन ऐसा नहीं हो सका। 

72 वर्षीय गावस्कर ने कहा, “मिचल मार्श ने काफी अच्छी पारी खेली। डेविड वॉर्नर भी पिछले कुछ मैचों में अच्छा खेले, इसलिए न्यूजीलैंड चाहता होगा कि एरोन फिंच के बाद इस खब्बू बल्लेबाज का विकेट भी मिल जाए लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  हैं  कि न्यूजीलैंड की टीम डेविड वॉर्नर का विकेट जल्दी लेना चाहती थी, लेकिन ऐसा करने में असफल रही।”