in

इस बार भारतीय टीम रच सकती है इतिहास: सुनील गावस्कर  

हाल में सुनील गावस्कर द्वारा लिखे गए लेख के अनुसार इस बार टीम इंडिया सीरीज जीत के साथ इतिहास रच सकती हैं.

Sunil Gavaskar
Sunil Gavaskar. (Photo Source: Twitter)

भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज़ सुनील गावस्कर ने केन्या में क्रिकेट इतिहास के सबसे घातक गेंदबाजो में शामिल रहे वेस्टइंडीज के पूर्व तूफ़ानी गेंदबाज़ माइकल होल्डिंग के साथ नया साल का जश्न मनाया. पिछले कई वर्षो से दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट पर बारीकी से नज़र रखने वाले माइकल होल्डिंग का मानना है, कि भारत का मौजूदा दक्षिण अफ्रीका दौरा भारत के लिए अच्छा रहने वाला हैं. भारतीय टीम के प्रति होल्डिंग का यह विश्वास भारतीय फैन्स के लिए बेहद ख़ुशी की बात हैं. हाल में सुनील गावस्कर द्वारा लिखे गए लेख के अनुसार इस बार टीम इंडिया सीरीज जीत के साथ इतिहास रच सकती हैं.

सुनील गावस्कर ने अपने कॉलम में लिखा, मौजूदा भारतीय टीम के पास बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी में काफी अच्छा अनुभव हैं, यही कारण है, कि इस बार वे उम्मीद से ज्यादा उछाल से दुविधा में नहीं पड़ेगे. टीम के ओपनर यहाँ पहले बल्लेबाज़ी कर चुके है, और उन्होंने यहाँ स्टेन और मॉर्केल जैसे बेहतरीन गेंदबाज़ो का उछाल वाली पिचों पर सामना किया हैं. इस बार ओपनरर्स ज्यादा संभलकर कर बल्लेबाज़ी करेगे.

गावस्कर ने कहा, चेतेश्वर पुजारा दक्षिण अफ्रीका में एक बड़ा शतक जमा चुके है, जबकि कप्तान कोहली ने पिछले दौरे पर वांडरर्स के मैदान पर लगभग 2 शतकीय पारी खेली थी. सीनियर बल्लेबाज़ अजिंक्य रहाणे अच्छी फॉर्म में नहीं है, परन्तु उपमहाद्वीप के बाहर उनका रिकॉर्ड अन्य बल्लेबाज़ी में जलन पैदा कर सकता हैं.

गावस्कर ने आगे कहा, टीम के गेंदबाज़ो के पास भी यहाँ खेलने का अच्छा अनुभव है, और वह जानते है कि विकेट से ज्यादा उछाल देखकर उन्हें अपना धैर्य नहीं खोना हैं. बॉलरर्स को मालूम है, कि सटीक लाइन लेंथ और नियंत्रित बाउंसर से ही उन्हें विकेट मिल सकती हैं. स्पिनरों को भी पता है, कि यहाँ विकेट भारत जैसी टर्निंग नहीं होगी, यहाँ स्पिनरों को फाइट और उछाल पर ज्यादा निर्भर रहना होगा.

घरेलु सीरीज होने की वजह से दक्षिण अफ्रीका की टीम का आत्मविश्वास बेहद उच्च स्तर पर हैं. टीम के ज्यादातर खिलाड़ी फॉर्म में है, जबकि दिग्गज एबी डी विलियर्स की वापसी टीम के लिए वरदान साबित हो सकती हैं. दक्षिण अफ्रीका टीम की एकलौती कमज़ोरी टीम का अनुभवहीन टॉपआर्डर है. डीन एल्गर और युवा बल्लेबाज़ मार्करैम ने पिछले लम्बे समय से एक मजबूती गेंदबाज़ी का सामना नहीं किया हैं.

आज भी अफ़्रीकी टीम की सबसे बड़ी ताकत उनकी पेस बैटरी है, हालाँकि स्पिनर केशव महाराज भी भारत के लिए पेरशान का सबब बन सकते है. यह एक शानदार सीरीज होनी चाहिए. इसलिए गावस्कर की तरह सभी इस फ्रीडम सीरीज को देखने के लिए बेताब हैं.

MS Dhoni

धोनी कर रहे थे कॉन्ट्रैक्ट साइन बेटी जीवा गुनगुना रही थी गाना

Sanath Jayasuriya

कुछ ऐसी हालत हो गयी हैं श्रीलंका के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर की, जानिये कौन हैं यह दिग्गज