नागपुर टेस्ट में जहां भारत ने जीत का रिकॉर्ड तोड़ा, तो श्रीलंका ने हार की बराबरी की - क्रिकट्रैकर हिंदी

नागपुर टेस्ट में जहां भारत ने जीत का रिकॉर्ड तोड़ा, तो श्रीलंका ने हार की बराबरी की

Murali Vijay
Murali Vijay celebrates his hundred. (Photo Source: Twitter)

नागपुर में खेले गए भारत और श्रीलंका के बीच पहले टेस्ट मैच में भारत ने 239 रन बनाकर श्रीलंका को कड़ी शिकस्त दी है. इस जीत के साथ भारत ने अपने 10 साल पहले टेस्ट मैच की जीत की बराबरी कर ली है. साल 2007 में भारत ने बांग्लादेश को 239 रन की पारी खेलते हुए हराया था. वही अब नागपुर टेस्ट में जीत के बाद भारत ने क्रिकेट जगत में ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम किया है जो पहले कभी नही किया था.

कोहली की टीम ने जिस तरह से लगातार जीत पर जीत हासिल करती जा है और नागपुर की जीत के बाद भारत ने साल 2017 में 32 अंतरराष्ट्रीय मैच जीतकर अपना पुराना रिकॉर्ड भी ध्वस्त कर दिया है. एक साल में 32 अंतरराष्ट्रीय मैच कभी भारत ने नही जीता. वहीं पिछले साल की बात की जाए तो भारत ने 31 अंतरराष्ट्रीय मैच जीता जो नागपुर के बाद उसे भी विराट की टीम ने तोड़ दिया.

भारत की पारी में टेस्ट मैच बड़ी जीत पर ध्यान दिया जाए तो भारत ने साल 1999 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 219 रन की पारी कोलकाता में खेली, 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ भारत ने 239 रन की पारी ढाका में खेला, 2010 में नागपुर में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 198 रनों की पारी, इसी साल भारत ने श्रीलंका खिलाफ पल्लेकेले में 171 रन की पारी खेली, और अब नागपुर श्रीलंका के खिलाफ 239 रन की पारी खेला.

सबसे मजेदार बात यह रही की श्रीलंका ने नागपुर टेस्ट हारकर अपने पुराने हार की रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है इस एक साल श्रीलंका ने सात टेस्ट मैच हारा और कुछ साल पहले श्रीलंका ने  साल 2015 में 7 टेस्ट मैच हारकर अपने पुराने रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है. वही भारत के नए रिकॉर्ड से साफ होता है कि भारत के खिलाड़ी कप्तान विराट कोहली की कप्तानी में आने वाले समय में और भी क्रिकेट के इतिहास के कई बड़े-बड़े रिकॉर्ड को ध्वस्त कर सकते है.