जब भावुक होकर रो पड़े धोनी, टीम के कोच ने खोला माही की आंखों में नमी का राज - क्रिकट्रैकर हिंदी

जब भावुक होकर रो पड़े धोनी, टीम के कोच ने खोला माही की आंखों में नमी का राज

2013 आईपीएल स्‍पॉट फिक्सिंग घपले में सीएसके के टीम प्रिंसिपल गुरुनाथ मयप्‍पन आरोपी साबित हुए थे।

MS Dhoni. (Photo Source: Twitter/CSK)
MS Dhoni. (Photo Source: Twitter/CSK)

अगर हम ये कहें कि एमएस धोनी चेन्नई सुपर किंग्स के पर्याय हैं तो ये कहना शायद गलत नहीं होगा क्योंकि 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के उद्घाटन संस्करण के बाद से विकेटकीपर-बल्लेबाज फ्रेंचाइजी से जुड़े रहे हैं। तब से उन्होंने लगातार टीम का नेतृत्व भी किया है और अपने नेतृत्व में उन्होंने चार बार सीएसके को चैंपियन बनाया है। इसके अलावा, 2020 सीजन को छोड़कर, सीएसके ने हर सीजन में प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई किया है।

हालांकि धोनी ने 2020 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की, लेकिन उन्होंने आईपीएल में सीएसके की सेवा जारी रखी। यहां तक ​​​​कि उन्होंने रवींद्र जडेजा से चल रहे 2022 सीजन के बीच में कप्तानी भी संभाली क्योंकि ऑलराउंडर जडेजा कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहे थे। विशेष रूप से, सीएसके के अलावा, धोनी ने आईपीएल में 2016 और 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजायंट के लिए भी खेला।

एमएस धोनी ने पूरे 2018 सीजन में अविश्वसनीय रूप से अच्छा खेला: माइकल हसी

2013 आईपीएल स्‍पॉट फिक्सिंग मामले में सीएसके के टीम प्रिंसिपल गुरुनाथ मयप्‍पन आरोपी साबित हुए थे। तब सीएसके को दो साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था। बहरहाल, 2018 में वापसी की और उसी साल धोनी की कप्तानी में अपना तीसरा  खिताब भी जीता। इस बीच हसी ने बताया कि 2018 आईपीएल की शुरूआत में एमएस धोनी ने एक भाषण दिया था और तब कप्‍तान की आंखों में आंसू थे। उन्‍होंने इसे विशेष सीजन की शुरूआत कहा था।

हसी ने सीएसके द्वारा साझा किए गए ‘सुपर रीयूनियन’ वीडियो में मैथ्यू हेडन से बात करते हुए कहा कि, “मेरे हिसाब से कुछ ऐसी मेमोरी नहीं है, लेकिन हम दीवार पर इन चैंपियनशिप विजेता तस्वीरों को देखते हैं … मुझे लगता है कि शायद 2018 सीजन। हम दो साल के बैन की वजह से बाहर थे। हम वापस आए और मुझे याद है कि सीजन की शुरुआत में एमएस भाषण दे रहे थे। उस दौरान वास्तव में उनके आंसू बहने लगे, उसकी आंखों से आंसू निकल रहे थे और मुझे याद है, यहां कुछ खास हो रहा है।”

उन्होंने आगे कहा कि, “वह एक विशेष सीजन था। जब आप उस सीजन के बारे में सोचते हैं तो आपके रौंगटे खड़े हो जाते हैं। यह लगभग वैसा ही था जैसा कि आईपीएल में वापस आने के बाद होना था। एमएस ने पूरे सीजन में अविश्वसनीय रूप से अच्छा खेला। यह सिर्फ एक विशेष समय था।”