झूलन गोस्वामी को शानदार विदाई देना चाहती हैं स्मृति मंधाना, जानिए क्या कहा सलामी बल्लेबाज ने - क्रिकट्रैकर हिंदी

झूलन गोस्वामी को शानदार विदाई देना चाहती हैं स्मृति मंधाना, जानिए क्या कहा सलामी बल्लेबाज ने

झूलन गोस्वामी ने अभी तक 250 से ज्यादा झटके हैं और वो महिला वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज है।

Jhulan Goswami, Shikha Pandey & Smriti Mandhana
Jhulan Goswami, Shikha Pandey & Smriti Mandhana. (Photo Source: Twitter)

भारतीय महिला टीम की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना और उनकी साथी खिलाड़ी अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से एक शानदार विदाई देना चाहती हैं।

बता दें, पहले वनडे मुकाबले में भारत ने इंग्लैंड को 7 विकेट से मात दी। स्मृति मंधाना को इस मैच में ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ अवार्ड से नवाजा गया। झूलन गोस्वामी इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही तीन मुकाबलों की वनडे सीरीज के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लेंगी। उन्होंने अभी तक 250 से ज्यादा झटके हैं और वो महिला वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज है।

इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे मुकाबले में 91 रन की शानदार मैच जिताऊ पारी खेलने के बाद स्मृति मंधाना ने कहा कि वो और उनकी टीम झूलन गोस्वामी को शानदार विदाई देना चाहती हैं और साथ ही उन्होंने 2022 वर्ल्ड कप की हार को भी याद किया।

द क्रिकेटर के मुताबिक स्मृति मंधाना ने कहा कि, ‘मुझे बहुत बुरा लगा था जब हम इस वर्ल्ड कप में झूलन दीदी के लिए कुछ नहीं कर पाए। सबसे ज्यादा बुरा तब लगा जब हमने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुकाबला हारा। उनके चेहरे में यह साफ-साफ दिख सकता था कि वो कितना बुरा महसूस कर रही है। मुझे यह सोचकर बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा था कि हम उनको इस वर्ल्ड कप में जीत नहीं दिला पाए। यह वर्ल्ड कप उनके लिए बहुत खास था।

लेकिन अभी भी हमारे पास एक और मौका है। भले ही यह वर्ल्ड कप ना हो एक सीरीज हो लेकिन हम इंग्लैंड को इस सीरीज में हराना चाहेंगे और झूलन दीदी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से बेहतरीन विदाई देंगे।

पहले वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई पारी को लेकर स्मृति मंधाना ने कही यह बात

स्मृति मंधाना ने आगे कहा कि, ‘जब मैं 91 पर थी तब मैं घबरा गई थी जिसकी वजह से मैंने एक बेवकूफी वाला शॉट खेला और आउट हो गई। जब भी आप 70 या 80 रन पर खेल रहे होते हैं तब ऐसा आपके साथ होता है। मैं बड़ा शॉट खेलने को देख रही थी लेकिन उस पर मैंने अपने आप को रोका।

आज मुझे ऐसा लगा कि जब भी मुझे बड़े शॉट खेलने का मन हो रहा था तब मैंने आगे बढ़कर बड़े शॉट्स खेले। काफी अच्छा लग रहा है कि मैंने अपनी टीम की जीत में अहम योगदान दिया।’ इन दोनों टीमों के बीच दूसरा वनडे मुकाबला 21 सितंबर को कैंटरबरी में खेला जाएगा।