इसमें किसी तरह का संदेह नहीं कि मौजदा लिमिटेड ओवर्स टीम में चहल भारतीय टीम के सबसे शानदार स्पिन गेंदबाज - आकाश चोपड़ा - क्रिकट्रैकर हिंदी

इसमें किसी तरह का संदेह नहीं कि मौजदा लिमिटेड ओवर्स टीम में चहल भारतीय टीम के सबसे शानदार स्पिन गेंदबाज – आकाश चोपड़ा

युजवेंद्र चहल ने इस मुकाबले में 4 विकेट चटकाए थे । उन्होंने जॉनी बेयरस्टो और जो रूट के अलावा बेन स्टोक्स और मोईन अली का विकेट भी अपने नाम किया।

Team India in second ODI against England. (Photo Source: Twitter/BCCI)
Team India in second ODI against England. (Photo Source: Twitter/BCCI)

भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की जमकर तारीफ की है। उनके मुताबिक इंग्लैंड और भारत के बीच खेले जा चुके दूसरे वनडे मुकाबले में भारत की ओर से चहल ने बेहतरीन गेंदबाजी कर इंग्लैंड के बल्लेबाजों के ऊपर दबाव बना दिया था।

बता दें, युजवेंद्र चहल ने इस मुकाबले में 10 ओवरों में 47 रन देकर 4 विकेट झटके थे और मेजबान टीम को 246 पर ढेर कर दिया था। हालांकि भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन इस मुकाबले में काफी निराशाजनक रहा और यह मुकाबला 100 रनों से हार गए। इस जीत के साथ इंग्लैंड टीम ने 3 वनडे मुकाबलों की सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली।

इस मुकाबले को लेकर आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल में एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा कि, ‘युजवेंद्र चहल ने एक बार फिर से कमाल की गेंदबाजी की। इसमें कोई शक नहीं है कि चहल आपके लिए लिमिटेड ओवर्स में सर्वश्रेष्ठ स्पिनर हैं। लेकिन इसके बावजूद आपने टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में उनको टीम में शामिल नहीं किया जो आपकी बड़ी गलती थी।

आकाश चोपड़ा ने आगे कहा कि, ‘मुझे लगता है आप उनको वनडे सीरीज में तो खिलाएंगे लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज में नहीं। आयरलैंड के खिलाफ खेली जा चुकी टी-20 सीरीज में भी उन्हें सिर्फ एक मुकाबले में खिलाया गया था।

आकाश चोपड़ा का यह सवाल है कि एक स्पिनर को इतना आराम क्यों दिया जा रहा है। पहले अनिल कुंबले और हरभजन सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इतने ब्रेक नहीं मांगे थे और ना ही उन्हें दिए गए थे।

दूसरे वनडे मुकाबले को लेकर आकाश चोपड़ा का बयान:

आकाश चोपड़ा ने आगे कहा कि, ‘जॉनी बेयरस्टो और जो रूट दोनों का विकेट चहल ने लिया। जिसमें उनके खाते में 4 अहम खिलाड़ियों के विकेट आए। लॉर्ड्स मैदान की पिच उस तरह की नहीं थी, जहां पर तेज गेंदबाजों को काफी मदद मिलते हुए दिखे। यहां पर बुमराह और शमी का पहला स्पेल खत्म हने के बाद चहल को ही विकेट निकालने थे।

जिसके लिए एक समझदार गेंदबाज की जरूरत थी, जो इस पिच पर धीमी गेंद फेंक सके। जिसमें आप यदि चहल ने जिन खिलाड़ियों के विकेट हासिल किए उसमें जो जो रूट, जॉनी बेयरस्टो सभी स्टंप पर जाते हुए गेंद को खेलने में चूके वहीं बेन स्टोक्स भी कुछ इसी तरह अपना विकेट दे बैठे।