in

साल 2018 के 5 बेस्ट क्रिकेट कप्तान : नंबर 3 का कोई तोड़ नहीं

साल 2018 क्रिकेट के लिहाज़ से काफी बेहतरीन रहा. कई क्रिकेट टीमों ने इस साल में कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की और क्रिकेट की दुनिया में अपने खेल के दम इतिहास कायम किए. आज हम आपको साल 2018 के उन पांच कप्तानों के बारे में बताएंगे. जिन्होंने अपनी कप्तानी के दम पर अपनी टीमों को एक नई पहचान दी और कप्तानी का लोहा मनवाया. इन कप्तानों ने कई मैचों में ऐसे फैसले लिए जो आगे कई सालों तक क्रिकेट प्रेमी याद रखेंगे.

5- सरफराज़ अहमद, पाकिस्तान

Sarfraz Ahmed. (Photo by AAMIR QURESHI/AFP/Getty Images)

पाकिस्तान के आक्रामक बल्लेबाज़ के तौर पर जाने वाले सरफराज़ अहमद को असली पहचान साल 2015 के वर्ल्डकप में मिली. जब उन्होंने अपनी अर्धशतकीय पारी से पाकिस्तान को वर्ल्डकप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच जितवाया. जिसके बाद सोशल मीडिया पर वह सरफराज धोखा नहीं देगा के नाम से काफी लोकप्रिय रहे. साल 2016 में सरफाज को पाकिस्तान टी20 टीम की कमान सौंपी गई. इसी साल उन्हें वनडे और टेस्ट का कप्तान बनाया गया. साल 2017 में इंग्लैंड में सरफराज़ की कप्तानी में पाकिस्तान टीम ने भारत को चैंपियंस ट्राफी में हराकर इतिहास रच दिया.

4- जो रूट, इंग्लैंड

एलिस्टेयर कुक के साल 2017 में कप्तानी छोड़ने के बाद इंग्लैंड टीम की बागडोर इस नौजवान क्रिकेटर के हाथ में आई. रूट को असली पहचान साल 2018 में ही मिली. जब उनकी कप्तानी में इंग्लैंड की टीम ने भारतीय टीम को टेस्ट सीरीज़ में 4-1 से हराया. इस जीत के बाद क्रिकेट पंडित रूट को इंग्लैंड के बेहतरीन कप्तान के रूप में देख रहे हैं.

3- केन विलियमसन, न्यूज़ीलैंड

केन विलियमसन मौजूदा समय में न्यूजीलैंड टीम के सबसे बेहतरीन कप्तान के रूप में देखे जा रहे हैं. यूएई में पाकिस्तान जैसी मजबूत टेस्ट टीम को विलियमसन की कप्तानी में न्यूजीलैंड ने 2-0 से हराया. साल 1969 के बाद विदेशी धरती पर पाकिस्तान के खिलाफ न्यूज़ीलैंड ने विलियमसन की कप्तानी में बड़ी जीत दर्ज की है.

2- विराट कोहली, इंडिया

 

विराट कोहली को भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास का सबसे आक्रामक कप्तान कहा जाता है. साल 2018 में विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया को इंग्लैंड में हार का सामना करना पड़ा. लेकिन घरेलू सीरीज़ में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज़ टीम को टेस्ट में क्लीन स्वीप किया. मेलबर्न टेस्ट में टीम कोहली की कप्तानी में मिली 137 रनों की एतिहासिक जीत क्रिकेट प्रेमियों को लंबे समय तक याद रहेगी.

1- इयोन मोर्गन, इंग्लैंड

एलिस्टेयर कुक के बाद वनडे टीम की कप्तानी का जिम्मा बाएं हाथ के बल्लेबाज़ इयोन मोर्गन को सौंपा गया. मोर्गन के लिए वनडे क्रिकेट की कप्तान साल 2018 के लिहाज से काफी यादगार रही. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड की टीम ने वनडे सीरीज़ में जीत दर्ज की. टीम इंडिया के खिलाफ इंग्लैंड को भले ही हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन वनडे सीरीज़ में मोर्गन की कप्तानी में जीत हासिल की थी. श्रीलंका दौरे पर भी मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड टीम ने 3-1 से वनडे सीरीज़ जीती थी.

सिडनी टेस्ट में ईशांत शर्मा भारतीय टीम के लिए कितने जरूरी, देखिए आंकड़े

टीम इंडिया के हिटमैन रोहित शर्मा बने पिता, जानिए बेटा हुआ या बेटी