सौरव गांगुली ने बताया, अश्विन को टी-20 वर्ल्डकप में शामिल करने के पीछे किसका हाथ था - क्रिकट्रैकर हिंदी

सौरव गांगुली ने बताया, अश्विन को टी-20 वर्ल्डकप में शामिल करने के पीछे किसका हाथ था

2017 के बाद से टी-20 वर्ल्ड कप 2021 तक अश्विन ने कोई सफेद गेंद वाला मैच नहीं खेला था।

Ravichandran Ashwin. (Photo by INDRANIL MUKHERJEE/AFP via Getty Images)
Ravichandran Ashwin. (Photo by INDRANIL MUKHERJEE/AFP via Getty Images)

भारत के टी-20 वर्ल्ड कप 2021 टीम में रविचंद्रन अश्विन का शामिल होना किसी आश्चर्य से कम नहीं था क्योंकि अनुभवी ऑफ स्पिनर ने 2017 के बाद से भारतीय के लिए सफेद गेंद वाला कोई मैच नहीं खेला था। हालांकि उस टी-20 वर्ल्ड कप में अश्विन को तुरंत प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया था, पहले दो मैचों में हार मिलने के बाद अश्विन को टीम में जगह मिली थी।

उसके बाद उन्होंने आखिरी के तीन मैचों में छह विकेट लिए और इस दौरान उनका इकॉनमी भी छह से कम का रहा था। उस वर्ल्ड कप टीम में अश्विन को शामिल किए जाने को लेकर BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि पूर्व कप्तान विराट कोहली अश्विन को उस वर्ल्ड कप टीम में रखना चाहते थे।

टी-20 वर्ल्ड कप में अश्विन के चयन पर गांगुली ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

पत्रकार बोरिया मजूमदार के शो ‘Backstage with Boria’ में बातचीत के दौरान गांगुली ने कहा कि, “मुझे खुद यकीन नहीं था कि वह सफेद गेंद वाले क्रिकेट में वापसी करेंगे, लेकिन विराट कोहली उन्हें टीम में रखना चाहते थे, और उन्हें जो भी थोड़ा मौका मिला उन्होंने उस मौके को अच्छी तरह से भुनाया था।”

गांगुली ने कहा कि आर अश्विन के अगर आप टेस्ट रिकॉर्ड देखेंगे तो वो वाकई शानदार है। मुझे यह कहने की जरूरत नहीं हैं कि अश्विन शानदार खिलाड़ी हैं। इस बात का प्रमाण उनका अविश्वसनीय रिकॉर्ड देता हैं। बस आप उनके बारे में ये कहकर आंखें बंद नहीं कर सकते कि अब उनका करियर खत्म हो चुका है। उन्होंने यह भी कहा कि अब जो अश्विन कर रहे हैं मैं उसे देखकर बिल्कुल भी हैरान नहीं हूं।

गांगुली ने अपने बातचीत के दौरान यह भी संकेत दिया कि, अश्विन सफेद गेंद वाले क्रिकेट में भारत की आगामी सीरीज का हिस्सा बने रहेंगे। उन्होंने कहा कि, “मुझे ऐसा कोई कारण नहीं दिख रहा है जिससे की हम अश्विन का समर्थन न करें। वह कितनी विजेता टीमों का हिस्सा रहे हैं। 2011 वर्ल्ड कप, वह भारत के लिए विजेता टीम का हिस्सा थे। 2013 में, जब उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी जीती, तो वह उस टूर्नामेंट में एक प्रमुख गेंदबाज थे।”