टी-20 वर्ल्ड कप 2022 तक अब विराट कोहली सभी सीरीज में खेलते हुए नजर आएंगे: प्रज्ञान ओझा - क्रिकट्रैकर हिंदी

टी-20 वर्ल्ड कप 2022 तक अब विराट कोहली सभी सीरीज में खेलते हुए नजर आएंगे: प्रज्ञान ओझा

मुझे नहीं लगता कि उनकी बल्लेबाजी या तकनीक में कोई परेशानी है। वो अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं लेकिन कभी-कभी ये काफी जरूरी होता है कि आप कैसे चीजों के बारे में सोच रहे हैं: प्रज्ञान ओझा

Virat Kohli (Image Source: Getty Images)
Virat Kohli (Image Source: Getty Images)

भारतीय टीम के पूर्व स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने कहा है कि अक्टूबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप 2022 तक विराट कोहली लगातार इंडिया टीम के लिए खेलते रहेंगे।

बता दें, इस समय चल रही वेस्टइंडीज के खिलाफ लिमिटेड ओवर्स सीरीज में विराट कोहली को आराम दिया गया है। इस समय भारतीय टीम मेजबान के खिलाफ तीन मुकाबलों की वनडे सीरीज खेल रही है और इसके बाद इन दोनों टीमों के बीच पांच मुकाबलों की टी-20 श्रृंखला खेली जाएगी।

पिछले काफी समय से विराट कोहली का फॉर्म काफी निराशाजनक रहा है। उन्होंने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक साल 2019 में जड़ा था। तमाम विशेषज्ञों और पूर्व क्रिकेटरों ने विराट कोहली के फॉर्म को लेकर तमाम बयान दिए हैं। कुछ लोगों का यह भी कहना था कि विराट कोहली को वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम में शामिल करना चाहिए था। ऐसा इसलिए ताकि एशिया कप और फिर टी-20 वर्ल्ड कप से पहले कोहली अपने बेहतरीन फॉर्म में वापस आ जाए।

प्रज्ञान ओझा ने जेमी ऑल्टर के ग्लांस चैट शो, ‘द अल्टरनेट व्यू’ ने कहा कि, ‘वापसी से मैं रन बनाने की बात कर रहा हूं। उनके जैसा बल्लेबाज अगर एक बार रन बनाने लगेगा तो अपने आप काफी चीजों में फर्क देखने को मिलेगा। और जैसा मैं सुन रहा हूं कि वेस्टइंडीज दौरे के बाद वो हर सीरीज में शामिल होंगे। मुझे नहीं लगता कि अब वह ज्यादा ब्रेक लेंगे जो कि काफी अच्छी बात है।

उन्हें ऐसा ही करना चाहिए। मुझे नहीं लगता कि उनकी बल्लेबाजी या तकनीक में कोई परेशानी है। वो अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं लेकिन कभी-कभी ये काफी जरूरी होता है कि आप कैसे चीजों के बारे में सोच रहे हैं।

विराट कोहली कुछ और ही सोच रहे हैं: प्रज्ञान ओझा

उन्होंने आगे कहा कि, ‘आप बेन स्टोक्स को देखिए उन्होंने कहा कि, ‘बॉस, हम लोग कोई गाड़ी नहीं है कि आप हमारे अंदर पेट्रोल डालिए और हम भागना शुरू कर दें। एक समय आता है जब लगातार क्रिकेट खेलने से खिलाड़ियों के शरीर में दिक्कतें पैदा हो जाती हैं। लेकिन मैं यह कह रहा हूं कि विराट कोहली को जितने मौके मिले वह खेलते जाए क्योंकि अगर आप नहीं खेलेंगे तो आपके अंदर विश्वास कैसे बढ़ेगा। ओझा के मुताबिक इस समय कोहली दिमाग से कुछ और सोच रहे हैं इसलिए शायद वह लगातार ब्रेक ले रहे हैं।

प्रज्ञान ओझा ने आगे कहा कि जब आप विराट की बल्लेबाजी को देखते हैं तो स्किल्स की बात नहीं होती ना ही ऐसा की वो सही से गेंद को मार नहीं पा रहे या फिर फिटनेस को लेकर कोई परेशानी है। शायद रन ना बनाने की वजह से या किसी और वजह से वो कुछ और सोचने लगे हैं। शायद इसीलिए वो लगातार ब्रेक ले रहे हैं।