पाकिस्तान की जिम्बाब्वे के साथ सीरीज रखने वाले जीनियस व्यक्ति से मिलना चाहते वसीम अकरम - क्रिकट्रैकर हिंदी

पाकिस्तान की जिम्बाब्वे के साथ सीरीज रखने वाले जीनियस व्यक्ति से मिलना चाहते वसीम अकरम

वसीम अकरम के अनुसार मैनेजमैंट को मजबूत टीमों के खिलाफ सीरीज का आयोजन करने पर ध्यान देना चाहिए।

LONDON, ENGLAND – JUNE 23: Wasim Akram. (Photo by Philip Brown/Popperfoto via Getty Images)
LONDON, ENGLAND – JUNE 23: Wasim Akram. (Photo by Philip Brown/Popperfoto via Getty Images)

इस बात में किसी तरह का संदेह नहीं है कि पाकिस्तान टीम के लिए इंग्लैंड का दौरा किसी बुरे सपने से कम साबित नहीं हुआ है। इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी-20 सीरीज गंवाने के बाद टीम के सभी खिलाड़ियों की आलोचना साफ तौर पर देखी जा सकती है। वनडे में जहां वह इंग्लैंड की दूसरे दर्जे की कही जाने वाली टीम के सामने 3-0 से हार गए थे, वहीं टी-20 सीरीज में भी पाकिस्तान टीम को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा।

अब टीम के खराब प्रदर्शन पर पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज गेंदबाज वसीम अकरम ने आलोचना करते हुए कहा कि टीम को मजबूत टीमों के खिलाफ अधिक सीरीज खेलने की योजना बनानी चाहिए क्योंकि अच्छी टीमों के खिलाफ खेलने से हमें खिलाड़ियों की सही पहचान होगी और टीम बेहतर प्रदर्शन कर पाएगी।

वसीम अकरम ने साफ तौर पर मैनेजमेंट की आलोचना करते हुए जिम्बाब्वे जैसी कमजोर टीमों के साथ अधिक सीरीज के आयोजन पर भी सवाल खड़े किए हैं। अकरम ने भारत की टीम से तुलना करते हुए कहा कि इस समय उनकी 2 टीमें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अलग-अलग विरोधी टीमों के खिलाफ खेलते हुए दिखाई दे रही हैं।

पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान वसीम अकरम ने एआरवाई न्यूज को दिए अपने बयान जो हिंदुस्तान टाइम्स में रिपोर्ट किया गया, उसमें उन्होंने कहा कि मैं उस जीनियस से मिलना चाहता हूं जो जिम्बाब्वे के दौरों का आयोजन कर रहा है। मैं उनकी अतिरिक्त प्रशंसा करना चाहता हूं और कहना चाहता हूं कि ‘अच्छा किया, आपने बहुत अच्छा काम किया है’।

इससे हमें कोई फायदा नहीं होने वाला है। यह उनके लिए ही मददगार होगा। 4 साल में एक बार, मुझे इससे कोई परेशानी नहीं है। अगर आप भारत से तुलना करते हैं, उनकी एक टीम श्रीलंका में है तो दूसरी इंग्लैंड में और वे दूसरी टीम बना सकते हैं। उन्होंने 10 साल पहले अपने सिस्टम में सुधार किया। उन्होंने पैसे का निवेश किया और पेशेवरों को अपने साथ जोड़ा।

खिलाड़ियों की सिफारिश करना शर्मनाक है

क्रिकेट का खेल एशिया में एक धर्म की तरह माना जाता है, इसमें किसी तरह का संदेह नहीं है। वसीम अकरम जो वर्तमान में क्रिकेट समिति का हिस्सा हैं, उन्होंने लोगों से उनके लिए खिलाड़ियों की सिफारिश करना बंद करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि लोग मुझसे सिफारिश करते हैं कि इस खिलाड़ी का चयन कर लूं या उसका। उन्होंने कहा कि यह 21वीं सदी है और आप सभी पढ़े-लिखे पाकिस्तानियों से अनुरोध है कृपया ऐसा मत करें।