दीप्ति शर्मा-चार्ली डीन विवाद पर मुथैया मुरलीधरन ने रविचंद्रन अश्विन पर साधा निशाना - क्रिकट्रैकर हिंदी

दीप्ति शर्मा-चार्ली डीन विवाद पर मुथैया मुरलीधरन ने रविचंद्रन अश्विन पर साधा निशाना

हां! कानूनी तौर पर दीप्ति शर्मा ने नॉन स्ट्राइकर को रनआउट कर सही किया लेकिन यह बात कानूनी तौर पर सही है, खेल भावना के अनुरूप नहीं: मुथैया मुरलीधरन

Muttiah Muralitharan
Muttiah Muralitharan. (Photo Source: Twitter)

दीप्ति शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे और आखिरी वनडे मुकाबले में ‘मांकडिंग’ कर चार्ली डीन को ना ही सिर्फ पवेलियन की राह दिखाई बल्कि तीन मुकाबलों की वनडे सीरीज को 3-0 से अपने नाम किया। तमाम लोग दीप्ति शर्मा के इस रन आउट से खुश नहीं है और उनकी खूब आलोचना कर रहे हैं।

इसी डिबेट में अब श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन भी जुड़ चुके हैं। मुथैया मुरलीधरन का मानना है कि दीप्ति शर्मा ने डीन को आउट कर सही किया लेकिन उन्हें पहले एक बार इंग्लिश खिलाड़ी को चेतावनी देनी चाहिए थी।

अभी हाल ही में भारत के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने दीप्ति शर्मा की तारीफ करते हुए एक ट्वीट में लिखा था कि उन्होंने काफी चतुराई से और अपने दिमाग का इस्तेमाल करते हुए डीन को रन आउट किया, लेकिन श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर को यह बात सही नहीं लगी।

मुथैया मुरलीधरन ने डेक्कन क्रॉनिकल को कहा कि, ‘क्या ‘दिमाग का इस्तेमाल’? कोई भी खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट तब तक नहीं खेल सकता जब तक वो अपना दिमाग ना लगाए। मैंने दीप्ति शर्मा की सराहना की होती अगर उन्होंने पहले नॉन स्ट्राइकर को चेतावनी दे दी होती। इससे खेल का मनोबल भी बना रहता।’

मुरलीधरन ने आगे कहा कि, ‘हां! कानूनी तौर पर दीप्ति शर्मा ने नॉन स्ट्राइकर को रनआउट कर सही किया लेकिन यह बात कानूनी तौर पर सही है, खेल भावना के अनुरूप नहीं। लिमिटेड ओवर्स खेल काफी दबाव वाला खेल होता है और ऐसे मुश्किल समय में नॉन स्ट्राइकर अपनी क्रीज़ जल्दी छोड़ देता है। अगर वो ये गलती ना करे तो कभी हमें ऐसा देखने को नहीं मिलेगा।’

सैयद किरमानी ने खेल भावना को वापस लाने की अपील की

भारत के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी ने भी अश्विन के ट्वीट की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि, ‘बहादुरी और मन की उपस्थिति कहां है और बहादुरी पुरस्कार, हाहा!!! अश्विन मुझे क्षमा करें लेकिन आप अतीत में इस तरह की बहादुरी बहुत बार कर चुके हैं। दोस्तों! अब खेल भावना को वापस लाया जाए।’

भारत के पूर्व विकेटकीपर ने आगे कहा कि, ‘अगर गेंदबाज को लग रहा है कि नॉन स्ट्राइकर इस चीज का फायदा उठा रहा है, तो उन्हें पहले चेतावनी दें, जैसे विवियन रिचर्ड्स या कोर्टनी वॉल्श देते थे। अगर चेतावनी के बावजूद नॉन स्ट्राइक ऐसी गलती फिर दोहरा रहा है तो आप उन्हें रन आउट कर सकते हैं।’