पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने भारतीय टीम के पूर्व मुख्य रवि शास्त्री के इस बयान का किया बचाव - क्रिकट्रैकर हिंदी

पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने भारतीय टीम के पूर्व मुख्य रवि शास्त्री के इस बयान का किया बचाव

भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने कुछ समय पहले ही कहा था कि बायो-बबल में रहना बिल्कुल भी आसान काम नहीं है।

Babar Azam. (Photo Source: Twitter)
Babar Azam. (Photo Source: Twitter)

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारतीय टीम का सफर सुपर-12 मैचों के साथ समाप्त होने पर उनके प्रदर्शन को लेकर हर तरफ आलोचना देखने को मिली। हालांकि इसी बीच टीम इंडिया के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने टीम का बचाव करते हुए बयान दिया कि खिलाड़ियों के लिए लगातार बायो-बबल में रहना और अच्छा प्रदर्शन करना बिल्कुल भी आसान काम नहीं है। अब उनके इसी बयान पर पाकिस्तानी टीम के कप्तान बाबर आजम ने उनका बचाव करते हुए कहा कि खिलाड़ियों को खुद को लगातार मानसिक तौर पर मजबूत रखना बिल्कुल भी आसान नहीं है।

मेगा इवेंट में भारतीय टीम के जल्दी बाहर होने के बाद रवि शास्त्री ने अपने बयान में कहा था कि टीम के कई खिलाड़ी लगातार पिछले 6 महीने से बायो-बबल का हिस्सा हैं। इंग्लैंड के दौरे से शुरू हुआ यह बायो-बबल, आईपीएल और उसके बाद टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान भी जारी रहा। जिसपर उन्होंने कहा कि इस स्तर पर लगातार शानदार प्रदर्शन करना वह भी बायो-बबल में रहते हुए काफी चुनौतीपूर्ण काम है।

बायो-बबल में रहते हुए आपको मानसिक तौर पर काफी मजबूती दिखानी पड़ती है

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप 2021 के सेमीफाइनल मुकाबले से पहले हुई वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने बायो-बबल को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि, देखिए प्रोफेशनल क्रिकेट के दौरान आपको काफी सारे उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ता है, जिसमें बायो-बबल में रहने से भी और मुश्किलें खड़ी होती हैं। हम एक ग्रुप में रहने के साथ सभी का साथ देते हैं ताकि कोई मानसिक तौर पर कमजोर ना पड़े।

बाबर ने अपने बयान में आगे कहा कि, जब भी आप खराब प्रदर्शन करते हैं, तो आपको इससे बाहर निकलने के लिए थोड़ा समय चाहिए होता है, जिसमें आप खुद को फिर से मजबूती के साथ वापसी के लिए तैयार कर सके। लेकिन हमारे खिलाफ 10 विकेट से हार के बाद भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ ऐसा करने के लिए बिल्कुल भी समय नहीं मिला। क्योंकि एक खिलाड़ी होने के नाते आपको ऐसे समय थोड़ा आराम की जरूरत होती है।

लेकिन बायो-बबल में रहने से आप कहीं बाहर नहीं जा सकते हैं और ऐसे में खुद को मानसिक तौर पर मजबूत रखना काफी मुश्किल भरा हो जाता है। जिसका असर आपके प्रदर्शन पर साफतौर पर देखने को मिलता है।