कौन बेवकूफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने की जगह पर आईपीएल को देगा प्राथमिकता - रवि शास्त्री - क्रिकट्रैकर हिंदी

कौन बेवकूफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने की जगह पर आईपीएल को देगा प्राथमिकता – रवि शास्त्री

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारतीय टीम का सुपर-12 में सफर समाप्त होने के साथ रवि शास्त्री का मुख्य कोच के तौर पर कार्यकाल भी समाप्त हो गया।

Virat Kohli and Ravi Shastri, (Photo Source: BCCI)
Virat Kohli and Ravi Shastri, (Photo Source: BCCI)

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारतीय टीम के खराब प्रदर्शन के बाद उनकी हर तरफ आलोचना देखने को मिली जिसमें टीम सुपर-12 के आगे का सफर भी नहीं तय कर सकी थी। भारतीय टीम जो इस मेगा इवेंट में बतौर दावेदार के तौर पर खेलने मैदान में उतरी थी उससे किसी को भी इस तरह के प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी। जिसमें टीम में कई मैच विनर खिलाड़ी मौजूद होने के बावजूद भी टीम उम्मीदों पर पूरी तरह से खरी नहीं उतर सकी। पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम को शुरुआती दोनों ही मैचों में एकतरफा हार का सामना करना पड़ा।

विराट कोहली की कप्तानी में जहां टीम से बिल्कुल ही उम्मीद के उलट प्रदर्शन देखने को मिला तो वहीं इसका दोष इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 2021 सीजन को दिया गया जिसके चलते खिलाड़ी मेगा इवेंट से पहले खुद को पूरी तरह से तरोताजा नहीं रख सके। इसी कारण भारतीय खिलाड़ियों को काफी ज्यादा आलोचना का भी सामना करना पड़ा।

हालांकि अब भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री जिनका कार्यकाल टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारतीय टीम का सफर समाप्त होने के साथ खत्म हो गया। उन्होंने अब इस बड़े सवाल का जवाब देते हुए कहा कि यदि IPL और टी-20 वर्ल्ड कप के बीच भारतीय खिलाड़ियों को थोड़ा लंबा ब्रेक मिलता तो शायद यह काफी बेहतर साबित हो सकता है।

वर्ल्ड कप और IPL के बीच थोड़ा ज्यादा लंबा ब्रेक काफी बेहतर साबित होता

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने इंडिया टुडे को दिए अपने इंटरव्यू के दौरान कहा कि, मैं इस समय मानसिक तौर पर पूरी तरह से थक चुका हूं शायद यह मेरी उम्र के कारण भी हो सकता है। लेकिन टीम में मौजूद खिलाड़ी मानसिक के साथ शारीरिक तौर पर काफी थक चुके हैं। वह पिछले 6 महीनों से लगातार बायो-बबल का हिस्सा है। जिसमें कुछ खिलाड़ी इस दौरान अपने घर तक नहीं गए हैं। यदि IPL और वर्ल्ड कप के दौरान खिलाड़ियों को थोड़ा ज्यादा ब्रेक मिलता तो उससे काफी लाभ हो सकता था।

वहीं उन्होंने अपने इस इंटरव्यू के दौरान भारतीय खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की जगह आईपीएल खेलने को प्राथमिकता देने के लगे आरोप का भी जवाब देते हुए कहा कि, कौन बेवकूफ ऐसा कर सकता है, जो अपने देश से खेलने की जगह पर IPL को प्राथमिकता देना पसंद करेगा। सभी खिलाड़ी देश के लिए खेलने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं और हमेशा अपना 100 प्रतीशत देने की कोशिश करते हैं।