समुद्री तूफान में फंसे बांग्लादेशी क्रिकेटर T20I सीरीज से पहले पड़े बीमार; पढ़िए पूरी खबर - क्रिकट्रैकर हिंदी

समुद्री तूफान में फंसे बांग्लादेशी क्रिकेटर T20I सीरीज से पहले पड़े बीमार; पढ़िए पूरी खबर

बांग्लादेश के अखबार प्रोथोम अलो की एक रिपोर्ट ने इस भयानक घटना को उजागर किया।

Bangladesh Cricket Team celebrates the fall of a wicket. (Photo Source: Twitter)
Bangladesh Cricket Team celebrates the fall of a wicket. (Photo Source: Twitter)

बांग्लादेश क्रिकेट टीम को वेस्टइंडीज दौरे पर एक भयावह घटना का सामना करना पड़ा और कई खिलाड़ियों ने इस दौरे को अपने करियर का सबसे भयंकर दौरा करार दिया। दरअसल, बांग्लादेश ने सेंट लूसिया से डोमिनिका (लगभग 180 किलोमीटर) तक समुद्र के माध्यम से लगभग पांच घंटे की यात्रा की, और इस दौरान खिलाड़ियों की हालत इतनी पतली हो गई कि शायद कोई दुर्घटना घट सकती थी।

बांग्लादेश क्रिकेट टीम जब तक डोमिनिका पहुंची, तब तक अधिकांश खिलाड़ी बीमार पड़ गए, क्योंकि अधिकांश बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने इससे पहले कभी नौका से यात्रा नहीं की थी, और वो भी इतनी लंबी जिस दौरान उन्हें खतरनाक समुद्री लहरों का सामना भी करना पड़ा।

बांग्लादेश के खिलाड़ी वेस्टइंडीज दौरे पर पड़े बीमार

जैसे ही नौका बीच राह पर पहुंची, छह से सात फीट ऊंची भयानक लहरें उठीं, जिससे नौका पूरी तरह से अनियंत्रित हो चुकी थी और झूल रही थी। इस दौरान एक के बाद एक बांग्लादेशी क्रिकेटरों को समुद्री बीमारी होने लगी। शोरफुल इस्लाम और नफीस इकबाल की हालत सबसे ज्यादा खराब थी।

बांग्लादेश के अखबार प्रोथोम अलो की एक रिपोर्ट ने इस भयानक घटना को उजागर किया। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि शोरफिउल इस्लाम को पूरी यात्रा के दौरान बार-बार उल्टी हुई, और यह भी खुलासा किया गया है कि वेस्टइंडीज टीम ने भी खुद कभी अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए जहाज से दूसरे द्वीप की यात्रा नहीं की।

बांग्लादेश के एक क्रिकेटर ने प्रोथोम अलो के हवाले से कहा, “बाकी किसी को तो कुछ होगा नहीं, लेकिन हम यहां बीमार पड़ सकते हैं, और मर सकते हैं।” वहीं दूसरे क्रिकेटर ने कहा: “मैंने कई देशों का दौरा किया है, लेकिन मैंने पहली बार इतनी खतरनाक यात्रा की है। हममें से किसी को भी ऐसे यात्रा करने की आदत नहीं है। आप खेलने के बारे में भूल ही जाइए, अगर हम में से कोई नौका पर गंभीर रूप से बीमार पड़ जाता तो क्या होता? यह मेरे जीवन का सबसे खराब दौरा है।”