रिद्धिमान साहा छोड़ेंगे बंगाल की रणजी टीम का साथ, पत्नी रोमी मित्रा ने किए कुछ बड़े खुलासे - क्रिकट्रैकर हिंदी

रिद्धिमान साहा छोड़ेंगे बंगाल की रणजी टीम का साथ, पत्नी रोमी मित्रा ने किए कुछ बड़े खुलासे

6 जून को झारखंड के खिलाफ बंगाल को रणजी ट्रॉफी का क्वार्टर फाइनल मुकाबला खेलना है।

Wriddhiman Saha
Wriddhiman Saha. (Photo Source: Twitter)

रिद्धिमान साहा आईपीएल 2022 में अब तक शानदार फॉर्म में नजर आए हैं, अनुभवी विकेटकीपर-बल्लेबाज ने इस सीजन में सिर्फ आठ मैचों में गुजरात टाइटंस के लिए 281 रन बनाए हैं। शुभमन गिल के साथ मिलकर उन्होंने लगभग हर मैच में टीम को अच्छी शुरुआत दी है। उन दोनों की ओपनिंग पार्टनरशिप ने गुजरात को पॉइंट्स टेबल में टॉप पर बने रहने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

लेकिन पिछले छह महीने से साहा ने गलत वजहों से ज्यादा सुर्खियां बटोरी है। श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए टेस्ट टीम से बाहर किए जाने के बाद, साहा ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया था। उन्होंने कहा कि, मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने उन्हें रिटायरमेंट लेने पर विचार करने की सलाह दी थी। उसके बाद वो वरिष्ठ पत्रकार बोरिया मजूमदार के साथ हुए विवाद की वजह से सुर्खियों में आ गए थे।

इस बीच हाल ही में विकेटकीपर-बल्लेबाज को आगामी रणजी नॉकआउट मैचों के लिए बंगाल टीम में शामिल किया गया है, लेकिन वो अब एनओसी की मांग कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि साहा को अब अपने घरेलू टीम का प्रतिनिधित्व करने में कोई दिलचस्पी नहीं है। साहा की पत्नी ने खुलासा किया कि इस सीजन की शुरुआत में उन्होंने व्यक्तिगत कारणों से घरेलू टीम को छोड़ा था जिसके बाद उनकी मंशा पर सवाल उठाए गए थे, इसी वजह से वो CAB की अधिकारियों से नाराज हैं।

रिद्धिमान साहा फिर से बंगाल के लिए खेलने की स्थिति में नहीं हैं- रोमी मित्रा

Sportstar के हवाले से साहा की पत्नी रोमी मित्रा ने कहा कि, “कुछ महीने पहले, जब रिद्धि ने व्यक्तिगत कारणों से रणजी ट्रॉफी के लीग चरण को छोड़ने का फैसला किया, तो CAB के एक बड़े अधिकारी ने मीडिया को एक बयान दिया जिसमें उनकी प्रतिबद्धता पर संदेह किया गया था। एक सीनियर खिलाड़ी होने के नाते, जिसने बंगाल क्रिकेट को सब कुछ दिया है, रिद्धि इस तरह के बयानों से काफी दुखी हैं।”

रोमी ने आगे कहा कि, “कल रात स्क्वॉड का ऐलान होने के बाद, उन्होंने आज डालमिया जी पूरे मुद्दे पर चर्चा की। सीएबी अध्यक्ष ने उन्हें अपने फैसले को लेकर फिर से सोचने और नॉकआउट खेलने के लिए कहा, लेकिन रिद्धि ने उनसे कहा कि वह फिर से बंगाल के लिए खेलने की स्थिति में नहीं हैं, क्योंकि उनकी प्रतिबद्धता के बारे में बहुत सारे सवाल उठाए गए थे।”

इस पूरे मामले को लेकर डालमिया ने कहा कि, “किसी भी खिलाड़ी और संस्था के बीच होने वाली कोई भी चर्चा उन दोनों के बीच ही रहती है। मैं इस समय पर किसी भी प्रकार की कोई भी टिप्पणी करने से पूरी तरह से बचना चाहूंगा।”