टेस्ट क्रिकेट में विराट कोहली जिस जुनून के साथ खेलते हैं, वह अद्भुत है - केविन पीटरसन - क्रिकट्रैकर हिंदी

टेस्ट क्रिकेट में विराट कोहली जिस जुनून के साथ खेलते हैं, वह अद्भुत है – केविन पीटरसन

विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट का महत्व अच्छी तरह से पहचानते हैं।

Virat Kohli celebration. (Photo by Alex Davidson/Getty Images)
Virat Kohli celebration. (Photo by Alex Davidson/Getty Images)

भारतीय टीम ने कुछ दिन पहले ही इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान में जिस तरह से सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में जीत हासिल की उसकी तारीफ सभी जगह देखने को मिल रही है। 5वें दिन के खेल में भारत ने जिस तरह से पहले खुद को मैच में मजबूत स्थिति में पहुंचाने के बाद इंग्लैंड की टीम को सिर्फ 2 सत्रों के अंदर समेट दिया उससे सभी प्रभावित हैं।

इस मैच के दौरान भारतीय टीम के खिलाड़ियों को फील्ड में काफी जुनून में भी देखा गया जिसमें कप्तान कोहली इसमें सबसे आगे थे। अब इंग्लैंड टीम के पूर्व खिलाड़ी केविन पीटरसन ने कोहली के इसी जुनून को लेकर कहा कि उनके हीरो द्रविड़ और तेंदुलकर हैं और इसी कारण आज वह उन्हीं के कदमों पर चलकर टेस्ट क्रिकेट को एक अलग मुकाम पर ले जाने का काम कर रहे हैंं।

पीटरसन ने अपने ब्लॉग बेटवे के जरिए कहा कि उनका जोश और जूनून अद्भुत है और वह जिस तरह से अपनी टीम को टेस्ट क्रिकेट में प्रेरित करते हैं, वह अविश्वसनीय है। कोहली को टेस्ट क्रिकेट में अद्भुत बताते हुए पीटरसन ने कहा, विराट को टेस्ट क्रिकेट का महत्व पता है और एक शानदार खिलाड़ी के रूप में वह उस तरह का प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

कोहली को टेस्ट क्रिकेट का महत्व पता है

कोहली की तारीफ में पीटरसन ने आगे कहा कि आप उन्हें टेस्ट क्रिकेट में खेलते हुए देखें तो आपको एहसास होगा कि वह किस जुनून के साथ खेलते हैं। कोहली अच्छी तरह से जानते हैं, कि इस फॉर्मेट में बेहतर प्रदर्शन करने के बाद ही उन्हें दिग्गज खिलाड़ियों की लिस्ट में शुमार किया जाएगा। इसी कारण वह इस फॉर्मेट को इतना महत्व देते हैं। यह हम सभी के लिए एक खुशी की बात होनी चाहिए।

हालांकि इस समय कोहली एक बल्लेबाज के तौर पर काफी खराब दौर से गुजर रहे हैं, जिसमें उनका आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक साल 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ देखने को मिला था। वहीं लॉर्ड्स टेस्ट की दो पारियों में कोहली 40 और 20 रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे। लेकिन इसके बावजूद उनके जुनून में किसी तरह की कमी मैदान के अंदर देखने को नहींं मिली।