एडिलेड में टीम इंडिया के 36 रन पर ऑल आउट होने के बाद क्या था पंत का रिएक्शन, पूर्व फील्डिंग ने बताया - क्रिकट्रैकर हिंदी

एडिलेड में टीम इंडिया के 36 रन पर ऑल आउट होने के बाद क्या था पंत का रिएक्शन, पूर्व फील्डिंग ने बताया

ऋषभ और मैंने अपना कीपिंग सेशन रद्द कर दिया और दौड़ते हुए स्टेडियम में आए- आर श्रीधर

Rishabh Pant and Mohammed Siraj
Rishabh Pant and Mohammed Siraj. (Photo by Bradley Kanaris/Getty Images)

2020-21 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की टेस्ट जीत मेन इन ब्लू के लिए सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक थी क्योंकि उन्होंने इतिहास रचा था। इस बीच भारत के पूर्व फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि जब पहले टेस्ट के दौरान एडिलेड टीम का बल्लेबाजी क्रम ढह गया, तब ऋषभ पंत के साथ वो क्या प्लान बना रहे थे।

एडिलेड में पहले टेस्ट की दूसरी पारी में टीम इंडिया केवल 36 रन पर ऑलआउट हो गई थी और अंत में उन्हें 8 विकेट से अपमानजनक हार का सामना करना पड़ा था। इसके अतिरिक्त, टीम की समस्या तब और बढ़ गई जब उस समय टीम के कप्तान विराट कोहली बीच सीरीज में भारत लौट गए। लेकिन अजिंक्य रहाणे के नेतृत्व में, भारत ने सिडनी और ब्रिस्बेन में टेस्ट मैच जीतकर सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया।

cricket.com के हवाले से श्रीधर ने कहा कि, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2021 की श्रृंखला में, बेहतर विकेटकीपरऔर एक बेहतर बल्लेबाज के लिए टॉस हुआ और वोट रिद्धिमान साहा को गया। उस समय वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर थे। लेकिन फिर, 36-ऑल-आउट हुआ।

श्रीधर ने एडिलेड टेस्ट को लेकर किया हैरान करने वाला खुलासा

उन्होंने आगे कहा कि, “आप विश्वास नहीं करेंगे, तीसरे दिन की सुबह जब विकेट गिर रहे थे, पंत और मैं अभ्यास पिचों पर बाहर थे, कीपिंग पर काम कर रहे थे। हम एडिलेड ओवल में ये ज़ोरदार ‘ऊह’ और तालियों की गड़गड़ाहट सुनते रहे। और हम दोनों इस तरह थे, ‘यह विकेट गिरने की ‘। और लगभग 20 मिनट के बाद, हमने अपना कीपिंग सेशन रद्द कर दिया और यह देखने के लिए स्टेडियम में आए कि स्कोर क्या है। यह 21/7 था। मैं और ऋषभ जैसे थे, यहां क्या हुआ है?!’ हमने इसे लाइव भी नहीं देखा।”

श्रीधर ने कहा कि भारत के 36 रनों पर ऑल-आउट के बाद, टीम मैनेजमेंट को बल्लेबाजी लाइनअप में एक बाएं हाथ के खिलाड़ी की आवश्यकता का एहसास हुआ, और परिणामस्वरूप ऋषभ पंत को अगले मैच में मौका दिया। पंत ने भारत की जीत के दौरान प्रशंसा अर्जित की और ऐतिहासिक सीरीज जीत के पीछे का कारण बन गए।

श्रीधर ने आगे कहा कि, “और फिर, हमने महसूस किया कि हमारे पास टॉप-6 में एक बाएं हाथ का खिलाड़ी नहीं है। हमारे पास सभी दाएं हाथ के बल्लेबाज थे। हम सीरीज में बाएं हाथ के बल्लेबाज को लाना चाहते थे और हमें ऋषभ पंत मिले। उन्होंने दूसरा टेस्ट खेला और बाकी सब अब इतिहास का हिस्सा है।