वो 5 खिलाड़ी जो रिटेंशन के प्रबल दावेदार होने के बावजूद लिस्ट में अपना नाम नहीं दर्ज करवा सके - क्रिकट्रैकर हिंदी

वो 5 खिलाड़ी जो रिटेंशन के प्रबल दावेदार होने के बावजूद लिस्ट में अपना नाम नहीं दर्ज करवा सके

जिन खिलाड़ियों को रिटेन नहीं किया गया है वो सभी मेगा ऑक्शन में उतरेंगे।

Jonny Bairstow
Jonny Bairstow. (Photo Source: Twitter)

जाहिर तौर पर इस वक्त इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) दुनिया का सबसे अच्छा फ्रेंचाइजी क्रिकेट टूर्नामेंट है। यह एक ऐसा टूर्नामेंट है जहां फ्रेंचाइजी के पास खिलाड़ी के जीवन को पूरी तरह से बदलने का अधिकार होता है लेकिन अगर उस खिलाड़ी का सीजन अच्छा नहीं रहा तो वो उसे अगले सीजन के लिए अचानक छोड़ भी सकता है।

अन्य क्रिकेट टूर्नामेंटों के विपरीत जहां केवल खिलाड़ी ही मैदान पर भूमिका निभाते हैं, फ्रेंचाइजी क्रिकेट में मालिकों और प्रबंधन की भूमिका उतनी ही महत्वपूर्ण होती है जितनी कि खिलाड़ी की होती है। खिलाड़ियों के मैदान पर कदम रखने से पहले प्रबंधन को रिटेंशन और बिडिंग गेम खेलने की जरूरत है।

टीमों के लिए खिलाड़ियों को बनाए और भी चुनौतीपूर्ण कार्य होता है। हालांकि हाल ही में हुए रिटेंशन में कई खिलाड़ियों को रिटेंशन नियमों के कारण टीम से बाहर कर दिया गया था। उनमे से कुछ खिलाड़ियों ने उन्हें पहले अच्छी तरह से सेवा दी थी। यहां, हमने 5 खिलाड़ियों को सूचीबद्ध किया है जो रिटेंशन के लिए प्रबल दावेदार थे लेकिन उन्हें रिटेन नहीं किया गया है।

5 खिलाड़ी जो आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन से पहले रिटेन करने के योग्य थे

1) हर्षल पटेल

Harshal Patel. (Photo Source: IPL/BCCI)
Harshal Patel. (Photo Source: IPL/BCCI)

2021 के आईपीएल सीजन में 32 विकेट लेने के बाद पर्पल कैप प्राप्त करने वाले हर्षल पटेल को अब “पर्पल पटेल” के उपनाम से जाना जाता है। दाएं हाथ के मध्यम तेज गति के गेंदबाज को 2021 में दिल्ली कैपिटल्स से उनकी पूर्व फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में भेज दिया गया था। उनकी धीमी गेंदें भारत और यूएई की पिचों पर घातक साबित हुई।

2021 के पहले मैच में ही, उन्होंने शक्तिशाली मुंबई इंडियंस के खिलाफ पांच विकेट हॉल लेकर सभी को प्रभावित किया था। वह MI के खिलाफ पांच विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज भी बने। उन्होंने पूरे समय अच्छा प्रदर्शन किया और 32 विकेट के साथ विकेट टैली को समाप्त किया जिसमें एक पांच विकेट हॉल और एक हैट्रिक शामिल है।

यह एक आईपीएल सीजन में किसी भारतीय द्वारा लिए गए संयुक्त रूप से सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए। सिर्फ एक सीजन में उन्होंने कई रिकॉर्ड तोड़े। उन्होंने सीजन का सबसे मूल्यवान खिलाड़ी और गेमचेंजर का भी अवार्ड जीता। टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी होने के बाद ऐसे किसी खिलाड़ी को रिलीज करना सबसे कठोर फैसला है।