इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में रविचंद्रन अश्विन को टीम में शामिल करने के पक्ष में नहीं आकाश चोपड़ा - क्रिकट्रैकर हिंदी

इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में रविचंद्रन अश्विन को टीम में शामिल करने के पक्ष में नहीं आकाश चोपड़ा

कई फैंस और विशेषज्ञों के अनुसार तीसरे टेस्ट मैच में अश्विन को टीम में शामिल किया जाना चाहिए।

Aakash Chopra and Ravichandran Ashwin. (Photo Source: Getty Images)
Aakash Chopra and Ravichandran Ashwin. (Photo Source: Getty Images)

इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान में 151 रनों की ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद अब भारतीय टीम की नजरें हेडिंग्ले में खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच को जीतकर सीरीज में 2-0 की बढ़त लेने पर होगी। 25 अगस्त से खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच को लेकर जहां इंग्लैंड की टीम में पहले ही बदलाव के संकेत पूरी तरह से दिख गए हैं, वहीं भारतीय टीम में बदलाव की संभावना काफी कम दिख रही है।

पहले 2 टेस्ट मैचों में जब भारतीय टीम के प्रमुख स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टीम में शामिल नहीं किया गया तो कई विशेषज्ञों ने इस फैसले को लेकर कप्तान कोहली की काफी आलोचना की थी। वहीं रविंद्र जडेजा को टीम में एकमात्र स्पिनर के तौर पर खिलाया तो गया लेकिन वह सिर्फ उनकी बल्लेबाजी की प्रतिभा को देखते हुए ताकि निचलेक्रम में टीम को अधिक मजबूती मिल सके। हालांकि अभी तक जडेजा दोनों ही टेस्ट मैचों में एक भी विकेट हासिल नहीं कर सके हैं।

अब एकबार फिर से कई फैंस और विशेषज्ञ तीसरे टेस्ट मैच के लिए अश्विन को टीम में शामिल करने की राय दे रहे हैं। लेकिन पूर्व भारतीय ओपनिंग बल्लेबाज आकाश चोपड़ा की इससे थोड़ा अलग राय है। उनके अनुसार हेडिंग्ले में खेलने जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच में भी अश्विन अंतिम एकादश से बाहर ही रहेंगे क्योंकि वहां कि पिच स्पिनरों के लिए बिल्कुल भी मददगार नहीं है।

लीड्स में स्पिनर बिल्कुल भी प्रभावी नहीं

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल के जरिए तीसरे टेस्ट मैच को लेकर टीम में बदलाव की संभावना पर कहा कि, जब लॉर्ड्स के मैदान में भारतीय टीम ने स्पिन के लिए थोड़ा मददगार पिच पर अश्विन को नहीं शामिल किया तो अब लीड्स जहां तीसरा टेस्ट मैच खेला जाना वहां की पिच पर स्पिन गेंदबाजों के लिए कोई खास मदद पहले भी देखने को नहीं मिली जिसके चलते अश्विन तीसरे टेस्ट मैच में भी बाहर ही रह सकते हैं।

वहीं उन्होंने पहले 2 टेस्ट मैचों में जडेजा के प्रदर्शन पर भी बात करते हुए कहा कि भले ही उन्होंने पहले 2 टेस्ट मैचों में विकेट हासिल ना किए हों लेकिन इससे भारतीय टीम को कोई बड़ा नुकसान नहीं पहुंचा हैं, क्योंकि तेज गेंदबाज अपना काम बखूबी करते हुए नजर आए हैं।

बता दें कि इस साल अश्विन अभी तक टेस्ट क्रिकेट में काफी शानदार फॉर्म में रहे हैं और वह सबसे तेजी के साथ 400 विकेट पूरे करने वाले दूसरे गेंदबाज भी बने। जिसके चलते उनका अंतिम 11 में शामिल ना होना कई सवाल जरूर खड़े करता है, भले ही पहले 2 टेस्ट मैचों में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है।